लाभ -हानि से सम्बंधित सूत्र

गणित हमेशा से एक रोचक विषय रहा है और गणित में हमेशा से ही सूत्रों का विशेष योगदान रहा है |यदि गणित के सवालों को सूत्रों के द्वारा हल किया जाता है तो सवाल बहुत सरल तरीके से हल हो जाते है |यहाँ पर गणित विषय के लाभ-हानि से सम्बंधित कुछ बहुत ही महत्वपूर्ण सूत्रों को दिया गया है ,जो विद्यार्थियों को सवालों को आसानी से हल करने में उनकी मदद करेगा |यदि आप गणित विषय में रूचि रखते है तो यह पोस्ट आपकी बहुत मददगार साबित होगी विशेषकर लाभ-हानि ,क्रय मूल्य-विक्रय मूल्य , ब्याज ,सरल ब्याज,दर,चक्रवृद्धि ब्याज आदि में |

यदि आप इस फाइल को PDF के रूप में डाउनलोड करना चाहते है तो पोस्ट के अंत में DOWNLOAD PDF पर क्लिक करके इस पोस्ट का PDF प्राप्त कर सकते है |

लाभ = विक्रय मूल्य – क्रय मूल्य

हानि = क्रय मूल्य - विक्रय मूल्य

लाभ % =
लाभ / क्रय मूल्य
× 100
हानि % =
हानि / क्रय मूल्य
× 100

विक्रय मूल्य = क्रय मूल्य + लाभ

विक्रय मूल्य = क्रय मूल्य – हानि

क्रय मूल्य = विक्रय मूल्य – लाभ

क्रय मूल्य = = विक्रय मूल्य + हानि

लाभ = (
लाभ % / 100 + लाभ
) × विक्रय मूल्य
हानि = (
हानि % / 100-हानि
) × विक्रय मूल्य

बट्टा = लिखित मूल्य - विक्रय मूल्य

लिखित मूल्य = बट्टा + विक्रय मूल्य

विक्रय मूल्य = लिखित मूल्य – बट्टा

बट्टा % = (
बट्टा / लिखित मूल्य
) × 100
बट्टा = (
बट्टा % / लिखित मूल्य
) × 100
N वर्ष पश्चात जनसंख्या = वर्तमान जनसंख्या ×(
1 + दर / 100
) समय
N वर्ष पूर्व जनसंख्या =
वर्तमान जनसंख्या / ( 1+दर / 100 ) समय
मिश्रधन = मूलधन + ब्याज
सरल ब्याज =
मूलधन × दर × समय / 100
मूलधन =
100 ×ब्याज / दर × समय
समय =
100× ब्याज / दर × मूलधन
दर =
100× ब्याज / समय × मूलधन
ब्याज = मिश्रधन - मूलधन
चक्रवृद्धि मिश्रधन =मूलधन ×( 1 +
दर / 100
) समय
चक्रवृद्धि ब्याज =मूलधन ×(1 +
दर / 100
) समय - मूलधन
Note : ब्याज अर्धवार्षिक देय हो तो : दर=
R / 2
, समय = T×2

Note : This Post is carefully prepared, if any error is found in it, please inform us by mail at kmshubb@gmail.com.
Download This PDF

Download PDF
81 KB

If Download Not Start Click Here


Post a Comment

0 Comments