वृत्त से सम्बंधित सूत्र

वृत्त से सम्बंधित सभी सूत्र

यहां वृत्त से सम्बंधित सूत्र दिए गए है , जो कि बोर्ड की परीक्षाओं के लिए और भारत में आयोजित होने वाली प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हैं | आप इस पोस्ट को ऑनलाइन पढ़ने के साथ -साथ ऑफलाइन भी इसका पीडीऍफ़ डाउनलोड करके पढ़ सकते है |

वृत्त से सम्बंधित सूत्र
वृत्त की त्रिज्या =
परिधि /
या क्षेत्रफल ÷ r
वृत्त का व्यास = 2r
वृत्त का क्षेत्रफल = π r2
वृत्त का परिमाप / परिधि = 2πr
अर्द्धवृत्त का क्षेत्रफल =
1 / 2
× πr2
अर्द्धवृत्त का परिमाप = πr + 2r
वृत्त के चतुर्थांश का क्षेत्रफल =
1 / 4
× πr2
चाप =
π r θ / 180°
लघु वृत्तखंड का क्षेत्रफल =
πr2θ / 360
-
1 / 2
r2 Sinθ
दीर्घ वृत्तखंड का क्षेत्रफल = वृत्त का क्षेत्रफल - लघु वृत्त खंड का क्षेत्रफल
लघु त्रिज्यखंड के चाप की लम्बाई (l) =
πrθ / 180
लघु त्रिज्यखंड का क्षेत्रफल =
πr2θ / 360
या
1 / 2
L × R
दीर्घ त्रिज्यखंड का क्षेत्रफल = πr2 [
360 - θ / 360
]
दो संकेंद्री वृत्तों के बीच का क्षेत्रफल = π (r12 - r22)
यदि किसी वृत्त की त्रिज्या को x प्रतिशत बढ़ा दिया जाये तो उसके क्षेत्रफल में % वृद्धि = 2x +
x2 / 100
r त्रिज्या के वृत्ताकार पार्क के चारों ओर x मीटर चौड़ा रास्ता हो तो रास्ते का क्षेत्रफल = π x (2r+x)
r त्रिज्या के वृत्ताकार पार्क के अंदर की ओर x मीटर चौड़ा रास्ता हो तो रास्ते का क्षेत्रफल = π x (2r-x)

महत्वपूर्ण तथ्य

1. यदि किसी आयत , वृत्त , चतुर्भुज , त्रिभुज की परिमितियाँ समान हों , तो इन चारों में से वृत्त का क्षेत्रफल सबसे अधिक होता है ।

2. वृत्त की सबसे बड़ी जीवा वृत्त का व्यास होती है ।

3. यदि किसी वृत्त की त्रिज्या या व्यास n गुना कर दिया जाए , तो उसकी परिधि n गुनी तथा क्षेत्रफल n2गुना हो जाता है ।

4. किसी ∆ की माध्यिकाओं के वर्गों के योगफल का 4 गुना उसकी भुजाओं के वर्गों के योगफल के तीन गुने के बराबर होता है ।

5. वृत्त के एक चाप का केन्द्र पर अंश माप , चाप के सापेक्ष वृत्त के एकान्तर खण्ड के किसी एक बिन्दु पर इस चाप द्वारा अन्तरित कोण का दोगुना होता है ।

6. दो वृत्त एक - दूसरे को नहीं काटेंगे , यदि और केवल यदि वृत्तों के केन्द्रों के बीच की दूरी , वृत्तों की त्रिज्याओं के योगफल से अधिक हो ।

7. दो वृत्त एक - दूसरे को दो बिन्दुओं पर काटेंगे यदि और केवल यदि वृत्तों के केन्द्रों के बीच की दूरी , वृत्तों की त्रिज्याओं के योगफल से कम हो ।

8. दो वृत्त बाह्यतः स्पर्श करेंगे , यदि और केवल यदि वृत्तों के केन्द्रों के बीच की दूरी वृत्तों की त्रिज्याओं के योगफल के बराबर हो ।

9. दो वृत्त एक - दूसरे को अन्तः स्पर्श करेंगे , यदि और केवल यदि वृत्तों के केन्द्रों के बीच दूरी , वृत्तों की त्रिज्याओं के अन्तर के बराबर हो ।

10. एक वृत्त दूसरे वृत्त के अन्दर होगा तथा दोनों वृत्त किसी भी बिन्दु पर एक - दूसरे को | स्पर्श नहीं करेंगे यदि और केवल यदि वृत्तों के केन्द्रों के बीच की दूरी उनकी त्रिज्याओं के अन्तर से कम हो .

Note : This PDF is carefully prepared, if any error is found in it, please inform us by mail at kmshubb@gmail.com.

Download PDF
134 KB

If Download Not Start Click Here

Post a Comment

0 Comments