घन एवं घनमूल ( Cube and Cubic Root )

ghan or ghanmool pdf downlooad

किसी संख्या को आपस में तीन बार गुणा करने पर जो गुणनफल प्राप्त होता है , उस गुणनफल को उस संख्या का घन कहते हैं तथा गुणनफल के लिए वह संख्या उसका घनमूल कहलाती है ।

किसी संख्या n के घन को n3 से प्रदर्शित करते हैं , जबकि घनमूल को ∛n से प्रदर्शित करते हैं ।

एक प्राकृत संख्या एक पूर्ण घन कहलाती है , यदि वह किसी प्राकृत संख्या का घन है , अर्थात् , यदि m = n3 हो , तो m एक पूर्ण घन है , जहाँ m और n प्राकृत संख्याएँ हैं ।

सम संख्याओं के घन सम संख्याएँ होती हैं ।

विषम संख्याओं के घन विषम संख्याएँ होती हैं ।

किसी संख्या का घन करने पर इकाई का अंक 0 से 9 तक कुछ भी हो सकता है , जैसे -
2 का घन = ( 2 )3 = 2 x 2 x 2 = 8 होता है
5 का घन = ( 5 )3 = 5x5x5 = 125 होता है

8 का घनमूल = ∛8 = ( 8 ) 1/ 3 = 2 होता है
125 का घनमूल = ∛125 = ( 125 ) 1/ 3 = 5 होता है

1 , 2 तथा 3 अंकों वाली संख्या का घनमूल एक अंक वाली संख्या होती हैं । इसी प्रकार 4 , 5 , 6 अंकों वाली संख्या का घनमूल दो अंकों वाली संख्या होती है ।

किसी संख्या में दशमलव के बाद जितने अंक होते हैं । घनमूल में दशमलव के बाद उसके एक - तिहाई अंक होते हैं ।

एक पूर्ण घन ( 1 के अतिरिक्त ) को सदैव समान अभाज्य गुणनखंडों के त्रिकों के गुणनफल के रूप में व्यक्त किया जा सकता है ।

किसी ऋण संख्या का घनमूल वास्तविक संख्या होता है तथा ऋण संख्या का वर्गमूल वास्तविक संख्या नहीं होता है , बल्कि एक काल्पनिक संख्या होता है , उदाहरणार्थ - 3375 का घनमूल = 15 अतः दी गई संख्या के अभाज्य गुणनखण्ड प्राप्त करके 3 . 3 अंकों के जोड़े बनाते हैं । फिर उनसे से एक - एक अंक लेकर गुणा करते हैं । इस प्रकार प्राप्त गुणनफल उस संख्या का घनमूल होता है ।

घनमूल को लघुगणक की सहायता से भी निकालते हैं , जैसे ∛x का मान क्या होगा , तब ।

माना
∛x = b
या
x = b
दोनों तरफ का log लेने पर
log ( x ) = log b
⅓ log x = log b

b = antilog ( ⅓ log x )

यह नियम दशमलव संख्याओं का घनमूल निकालने में उपयोगी है ।

संख्या में इकाई का अंक संख्या के घनमूल में इकाई का अंक
00
11
28
37
44
55
66
73
82
99
Download PDF
99 KB

If Download Not Start Click Here


Also Read - वर्ग एवं वर्गमूल


Post a Comment

0 Comments