कुछ प्रमुख सूचना तकनीक( Communication Technology )

Communication Technology notes

सूचना को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाने वाली तकनीक को संचार तकनीक कहा जाता है । इससे दुनिया एक वैश्विक गांव में बदल गई हैं । इसमें शामिल है SMS , MMS , Voice Mail , Emai , Wi - fi , Li - fi , Xi - fi etc .

DSL ( Digital Subscriber Line ) - वह तकनीक जिसके माध्यम से परम्परागत तारों में ही डिजीटल सिगनल भेजना संभव हो जाता है । DSL कहलाता है । भारत में इसी तकनीक के माध्यम से डिजिटल लाइसेंस शुरू किया गया है और पुरानी आधारभूत संचार संरचना पर ही नई संचार की क्षमता को ला दिया गया है । जिससे पूरे देश में ब्रॉडबैंड़ कनेक्टिविटी की संभावना बनी ।

प्रकाशीय तन्तु ( Optical Fiber ) -यह एक Non - Conventional wire होता है जिसमें डिजीटल सिगनल भेजना संभव होता है इसे सूचना क्रांति की जीवन रेखा कहा जाता है क्योंकि इसमें कोई भी डाटा नुकसान नहीं होता एवं मौसम व जलवायु की विपरित दशाओं का प्रभाव नहीं पड़ता । साथ ही यह साईबर वार व स्काई वार की समस्या से मुक्त है । इसमें लेजर व एल.ई.डी. सिगनल का प्रयोग किया जाता है । जिसके कारण संचार की क्षमता बहुत अधिक है । इन्ही सभी विशेषताओं के कारण प्रकाशीय तंत्रों को सूचना क्रांति की जीवन रेखा कहा जाता है इसीलिए संयुक्त राष्ट्र तथा भारत सरकार सभी के द्वारा इसके उपयोग का निर्णय लिया गया है ।

National Optical Fibre Network -2011 में इसे शुरू किया गया इसके अन्तर्गत 2016 तक सभी 2.5 लाख पंचायतों को प्रकाशीय तंतु के माध्यम से जोड़ा जायेगा । यह 40 हजार करोड़ का कार्यक्रम हैं । जिसमें 20 हजार करोड़ भारत सरकार एवं 20 हजार करोड़ पीपीपी मॉडल से वहन किया जायेगा । इसके माध्यम से डिजीटल इंडिया प्रोग्राम शुरू किया गया है ।

कुछ प्रमुख नेटवर्किंग

PAN ( Presonal Area Network ) - इसे Pico Nert के नाम से भी जाना जाता है । जब व्यक्तिगत ( Personal ) उपयोग के सभी संचार उपकरणों को आपस में जोड़ दिया जाता है तो उसे PAN कहा जाता है वर्तमान में 100 मीटर के दायरे में PAN बनाना संभव हो गया तथा इसके लिए Bluethooth Tech का प्रयोग किया जाता है ।

LAN ( Local Area Network ) - जब एक छोटे क्षेत्र में स्थित सभी संचार के उपकरणों को आपस में । जोड़ दिया जाता है तो इसी को LAN कहा जाता है इससे संचार का Local Hotspot तैयार हो जाता । है । वर्तमान में 700 मीटर के दायरे में इसे बनाना संभव हो गया है । इसे लिए WiFi , Li - Fi तकनीक का उपयोग किया जाता है ।

MAN ( Metro Politian Area Network ) - जब एक शहर में उपस्थित सभी संचार के उपकरणों को आपस में जोड़ दिया जाता है तो उसे MAN कहा जाता है वर्तमान में 70 किलोमीटर के दायरे में इसे बनाना संभव हो गया है । इसमे Wi - Max तकनीक का प्रयोग किया जाता है ।

WAN ( Wide Area Network ) - जब पूरी दुनिया में संचार के उपकरणों को आपस में जोड़ दिया जाता है तो उसे WAN कहा जाता है ।

INTERANET ( Inta - Network ) - जब एक विभाग या एक कार्यक्रम के लिए उपयोग में लाये जा रहे संचार के सभी उपकरणों को आपस में जोड़ दिया जाता है तो उसे इंट्रानेट कहा जाता है जैसे - Core Banking की सुविधा इंट्रानेट से संभव है । ( SBI की सभी ब्रांच आपस में जुड़ी हुयी है । )

Extranet ( Extra - Network ) -जब दो या दो से अधिक विभागों कार्यक्रमों के लिए उपयोग में लाये जाने वाले संचार के सभी उपकरणों को आपस में जोड़ दिया जाता है तो उसे EXTRANET कहा जाता है । जैसे - Banking , Mobile Banking , Universal Banking .

INTERNET ( International Network )- जब पूरी दुनिया में स्थित सभी संचार के उपकरणों को आपस में जोड़ दिया जाता है तो उसे INTERNET कहा जाता है ।

WWW( World Wide Web ) -( टिम बर्नस ली ) जब सभी प्रकार की सूचनाओं ( Voice Data ideo Data , Taxt Data , Video Clip ) के डाटा को अन्तराष्ट्रीय स्तर पर एक साथ जोड़ना संभव हो जाता है तो उसे WWW कहा जाता है । इन्टरनेट केवल मल्टीमीडिया का कनेक्शन है जबकि WWW सभी प्रकार के सूचनाओं का कनेक्शन है ।

GSM ( Globle Systm For Mobile )- यह एक यूरोपीय तकनीक है इसमें उपलब्ध फ्रीकुएंसी को Time Division के आधार पर अनेक भागों में बांट दिया जा सकता है ।

BLUETOOTH- ब्लूटुथ से मोबाईल से मोबाईल , मोबाईल से कम्प्यूटर , मोबाइल से लैपटॉप , तथा Laptop to any PDA (Personal Digital Assistance Laptop ) Connection संभव है ।

Wi - Fi ( Wireless Fidility ) - इसे 8Q2 - 11 LAN के नाम से भी जाना जाता है वह तकनीक जिसके माध्यम से एक Local Area में Networking की सुविधा उपलब्ध हो जाती है , उसे Wi - Fi कहा जाता है । इसके Radio - Signal का प्रयोग किया जाता है ।

❍ इसमें Wi - Fi तकनीक के अन्तर्गत Routes का प्रयोग किया जाता है ।

विशेषताएं :

❍ इससे छोटे क्षेत्र में Hotspot बनाना संभव होता है जैसे - बस स्टेशन , रेलवे स्टेशन , एयरपोर्ट , होटल इत्यादि ।

❍ इससे Art . 15 ( i ) ( i ) , 16( i ) ( ii ) को प्रभावी बनाना संभव होता है ।

❍ इससे बिना पूरी आधारभूत संरचना के भी आर्थिक गतिविधयों को बढ़ावा दिया जा सकता है ।

❍ इससे प्रशासनिक क्षमता को भी आवश्यकतानुसार बेहतर किया जा सकता है ।

समस्याएँ :

❍ Wifi का Netwok तोड़ना आसान होता है जैसे कि 26 / 11 के मुबंई आंतकवादी हमले के दौरान देखा गया । अतः Wifi को Un - Secured Wi - fi भी कहा जाता है ।

❍ इसे WPA ( Wireless Protocol Authentication ) द्वारा बनाया गया है ताकि Wifi के Network को तोड़ा ना जा सके । अतः ऐसे Wifi को Securesd Wifi कहा जाता है ।

Li - Fi ( Light Facility ) - वह तकनीकी जिससे LED Signal को आधार बनाकर Network ना होने के समस्या का समाधान कर दिया जाता है , Li - Fi कहलाता है । LED Signal की क्षमता वैसे भी Radio signal से बहुत अधिक होता है । जिससे Electronic Equments अपना खुद तैयार कर लेता है बर्तमान में अमेरिका के कई क्षेत्रों में इसका प्रयोग किया जा रहा है ।

Xi - Fi ( Access Facility )- जब Radio Singal के माध्यम से Network की क्षमता को बढ़ा दिया जाता है तो उसे Xi - Fi कहा जाता है ।

Wi - Max Tech ( Wireless Maximum ) - से 802.16 WAN भी कहा जाता है । यह एक Wide Area Network में Connecting के तकनीकी है । जिससे संचार के सभी उपकरणों को आपस में जोड़ दिया जाता है । इसके लिए बड़े Routers का उपयोग किया जाता है । जिसे Routurs cum Splitters भी कहा जाता है । इससे एक बड़े क्षेत्र में Wireless Connecting की सुविधा हो जाती है ।


Also Read - उद्योग से सम्बंधित प्रश्नोत्तर


Download PDF
444 KB

If Download Not Start Click Here

Post a Comment

0 Comments