Join Telegram Group

सांस्कृतिक समागम एवं सामाजिक परिवर्तन ( Cultural Encounter & Social Changes ) Important One Liners & Quiz

Cultural Encounter & Social Changes

आधुनिक शिक्षा का प्रारम्भ यूरोपीय जातियों के आगमन से माना जाता है ।

भारत में आने वाले पुर्तगाली पादरियों में फ्रांसिस जेवियर मुख्य था , जिसने 1542 ई . में अनेक स्कूल खोले ।

1823 ई . में ऐडम नामक एक अंग्रेज उच्चाधिकारी ने जो अस्थायी रूप से गवर्नर जनरल के रूप में कार्यरत था , सार्वजनिक शिक्षा के लिए दस सदस्यों की एक सामान्य समिति नियुक्त की ।

1834 ई . में लॉर्ड मैकाले ने गवर्नर जनरल के द्वारा तय की गई परिस्थितियों में आमूलचूक परिवर्तन किया ।

भारत में राजा राममोहन राय तथा जौहरी डेविड हेयर पश्चिमी सभ्यता के प्रचार - प्रसार के सबसे बड़े समर्थक माने जाते थे ।

मैकाले की यह मान्यता थी कि यदि उसकी शिक्षा योजना पर ढंग से कार्य किया गया तो यह निश्चित है कि तीस वर्ष पश्चात् बंगाल के सम्मानित वर्गों में एक भी मूर्तिपूजक नहीं बचेगा ।

अंग्रेजी कम्पनियों में आसानी से नौकरी मिल जाने के कारण नवयुवकों का अंग्रेजी शिक्षा के प्रति प्रेम हुआ ।

अंग्रेजी शिक्षा प्राप्त नवयुवकों को ही नौकरी दी जाएगी यह निर्णय लॉर्ड हार्डिंग्स के समय 1844 ई . में लिया गया ।

आधुनिक शिक्षा का सर्वाधिक प्रसार - प्रचार लॉर्ड डलहौजी के समय में ही हुआ ।

संस्कृत तथा अन्य देशी विद्यालयों में शिक्षा प्राप्त युवकों को नौकरी पाना बहुत मुश्किल था , जिसके कारण भी अंग्रेजी के प्रति मोह होना स्वाभाविक था ।

बंगाल में सार्वजनिक शिक्षा समिति का गठन 1823 ई . में हुआ . कलकत्ता में 1817 ई . में हिन्दू कॉलेज की स्थापना की गई , जो आगे चलकर 1854 ई . में प्रेसीडेंसी महा विद्यालय के नाम से प्रसिद्ध हुआ ।

मैकाले का यह मानना था कि देशी तथा भारतीय शिक्षा में साहित्यकता व वैज्ञानिकता का पुट नहीं है , अतः उसने संस्कृत तथा अरवी भाषा को शिक्षा का माध्यम वनाने का विरोध करना आरम्भ कर दिया था ।

मैकाले का उद्देश्य भारत में एक ऐसे वर्ग को जन्म देना था , जो रक्त एवं रंग से भारतीय हो , परन्तु विचारों से अंग्रेज हो ।

अंग्रेजी शिक्षा के माध्यम से प्रारम्भिक लाभ अधिकतर मध्यमवर्गीय हिन्दुओं ने उठाया।

1853 ई . में बनारस कॉलेज की स्थापना थॉम्पसन के द्वारा की गई ।

कलकत्ता के हिन्दू कॉलेज में कानून की शिक्षा 1842 ई . में तथा 1844 ई . में इंजीनियरिंग की शिक्षा शुरू की गई ।

अंग्रेजी संसद की ओर से नियुक्त कमेटी की रिपोर्ट पर 1854 ई . में शिक्षा व्यवस्था का घोषणा - पत्र जारी किया गया ।

1870-72 ई . में प्राथमिक स्कूलों की संख्या 16473 थी , वहीं 1881-82 ई . में यह संख्या बढ़कर 82916 हो गई ।

जयपुर का महाराजा कॉलेज 1873 ई . में कॉलेज स्तर में तब्दील हुआ था . इससे पूर्व यह स्कूल स्तर तक ही सीमित था ।

1875 ई . में अलीगढ़ में मोहम्मद एंग्लो ओरियंटल कॉलेज की स्थापना की गई , जो आगे चलकर मुस्लिम विश्वविद्यालय में तब्दील हो गया . पाश्चात्य शिक्षा में किसी प्रकार का जातीय वन्धन न होने के कारण ही उसका प्रसार - प्रचार तेजी से सम्भव हो सका ।

सामाजिक एवं धार्मिक आन्दोलनों की बदौलत भारतीय लोगों की धारणा में जो परिवर्तन आए , उन्हें ही पुनर्जागरण की संज्ञा दी गई।

पुनर्जागरण का सबसे महत्वपूर्ण प्रभाव यह पड़ा कि प्राचीन भारत का विस्मृत इतिहास एवं गौरव आम जनता के समक्ष प्रस्तुत किया जा सका ।

भले ही अंग्रेजों ने अंग्रेजी शिक्षा का अध्ययन - अध्यापन अपने हितों की दृष्टि से लागू किया था , परन्तु उसका वांछित प्रभाव भारतीय समाज पर ही पड़ा . उन्हें इस शिक्षा से नई सोच व अपने भले - बुरे का अहसास होने लगा था ।

अंग्रेजों की दोगली नीतियों के कारण ही उनका जगह जगह पर विरोध किया जाने लगा था ।

हिन्दू समाज के पथ प्रदर्शक राजा राममोहन राय का जन्म बंगाल के एक प्रतिष्ठित परिवार में 1774 ई . में हुआ था ।

ब्रह्म समाज के संस्थापक राजा राममोहन राय ही थे , जिन्होंने अपने पथ से भटकते हिन्दू समाज को एक नया रास्ता दिखाकर सन्मार्ग पर लाने का प्रयास किया ।

इन्हीं के सहयोग से 1829 ई . में एक सरकारी कानून बनाया गया और सती प्रथा का पूर्णरूप से अंत कर दिया गया ।

राजा राममोहन राय की मृत्यु के पश्चात् ब्रह्म समाज की बागडोर कविवर गुरुदेव रबीन्द्रनाथ ठाकुर के पिता देवेन्द्रनाथ ठाकुर ने संभाली ।

रामकृष्ण मिशन की स्थापना करने वाले स्वामी विवेकानंद का जन्म 1863 ई . में कलकत्ता में हुआ ।

आर्य समाज के संस्थापक स्वामी दयानंद सरस्वती का जन्म गुजरात के जिवपुर गाँव में 1824 ई . में हुआ था ।

मुस्लिम समाज के अग्रज कहे जाने वाले सर सैयद अहमद खाँ का जन्म 1817 ई . में दिल्ली में हुआ ।

आधुनिक भारतीय प्रेस की स्थापना 1766 ई . में हुई . सर्वप्रथम विलियम वोल्ट्स द्वारा एक समाचार - पत्र का प्रकाशन किया गया ।

प्रेस के क्षेत्र में सबसे पहला समाचार - पत्र बंगाल गजट था ।

अंग्रेजों के वृहद राजनीतिक प्रशासकीय तंत्र को चलाने के लिए शिक्षित व्यक्तियों की बड़े पैमाने पर आवश्यकता थी और इतने सारे लोग सीधे ब्रिटेन से आने सम्भव नहीं थे , फलतः सुयोग्य व्यक्तियों को प्रशिक्षण देने के लिहाज से भारत में स्कूल तथा कॉलेजों का प्रादुर्भाव हुआ ।

अंग्रेजी प्रभुसत्ता स्वीकार कर लेने के कारण देशी राज्यों की शक्ति कमजोर हो चुकी थी जिसका परिणाम यह हुआ कि उनके द्वारा दी जाने वाली शिक्षण संस्थाओं की सहायता बंद हो गई ।

अंग्रेजी शिक्षा का विस्तार इतनी तेजी से हुआ कि दो वर्ष के अन्दर अंग्रेजी पुस्तकों की 31,000 प्रतियाँ बिक गई ।

राजा राममोहन राय संस्कृत को इस देश को अंधकार में रखने वाली भाषा मानते थे ।

1857 ई . से पूर्व का काल शिक्षा के क्षेत्र में प्रयोगों का काल कहा जाता है ।

अंग्रेजी संसद की ओर से नियुक्त कमेटी की रिपोर्ट पर 1859 ई . में कलकत्ता , बम्बई तथा मद्रास में विश्व विद्यालयों की स्थापना की गई ।

सरकार की ओर से 7 अगस्त , 1871 ई . को पारित एक आदेशानुसार मुसलमानों को अंग्रेजी शिक्षा का अध्ययन आवश्यक कर दिया गया ।

1916 ई . में पुणे में भारतीय महिला विश्वविद्यालय की शुरूआत की गई ।

पुनर्जागरण के प्रभाव से हिन्दू धर्म का उत्थान एवं उसको व्यापक तथा सर्वग्राही बनाया जा सका ।

धार्मिक सुधार आन्दोलनों से ही भारतीयों की धार्मिक जड़ता को समाप्त किया जा सका ।

प्राचीन भारतीय काल को ' स्वर्णिम युग ' तथा मध्यकाल को ' अवनति के युग ' के रूप में जाना जाता है ।

अंग्रेजी शिक्षा से जहाँ अंग्रेजों ने अपना हित तो साधा ही , उससे कहीं अधिक भारतीयों को लाभ हुआ . इस अंग्रेजी शिक्षा के माध्यम से ही नए - नए सामाजिक वर्गों ने जन्म लिया ।

बंगाल में नवचेतना लाने की दिशा में सर्वप्रथम प्रयास ' यंग वंगाल आन्दोलन ' ने किया ।

यह संगठन अंग्रेजी शिक्षा प्राप्त नवयुवकों का समूह था ।

राजा राममोहन राय की प्रथम प्रकाशित कृति का नाम ' एकेश्वरवादियों को उपहार ' है ।

1818 ई . में राममोहन के द्वारा सती प्रथा का विरोध किया जाने लगा ।

राजा राममोहन राय के प्रयासों से ही 1817 ई . में कलकत्ता में एक अंग्रेजी स्कूल तथा हिन्दू कॉलेज की स्थापना सम्भव हो सकी ।

देवेन्द्रनाथ ठाकुर ने ' तत्ववोधिनी सभा ' की स्थापना की तथा ' तत्वबोधिनी पत्रिका ' का प्रकाशन भी शुरू किया ।

आचार्य केशवचंद्र सेन के प्रयासों से 1872 ई . में ब्रह्म मैरिज एक्ट तैयार किया गया , जिससे अंतर्जातीय तथा विधवा विवाहों की शुरूआत सम्भव हो सकी ।

स्वामी विवेकानंद ने 1896 ई . में न्यूयार्क में जाकर ' वेदांत सोसायटी ' की स्थापना की . 1896-97 ई . में ' रामकृष्ण मिशन ' की स्थापना की ।

1867 ई . में बम्बई में ' प्रार्थना समाज ' की स्थापना की गई ।

डॉ . ऐनीबेसेंट द्वारा 1875 ई . में न्यूयार्क की थियोसोफिकल सोसायटी की स्थापना की गई ।

डॉ . ऐनीवेसेंट 1893 ई . में भारत में आई और यहाँ के हिन्दू धर्म को अपना लिया और यहीं बस गईं ।

स्वामी दयानंद सरस्वती ने 1863 ई . में आगरा से ' पाखण्ड खंडिनी पताका ' लहराई तथा 1875 ई . में बम्बई जाकर आर्य समाज की स्थापना की ।

स्वामीजी की मृत्यु 1883 ई . में हुई .।

शिक्षा में सुधार लाने की दृष्टि से 1863 ई . में कलकत्ता में ' मुहम्मडन लिटररी सोसायटी ' की स्थापना की गई ।

सर सैयद अहमद खाँ ने 1870 ई . में उर्दू पत्रिका ' तहजीव उल अखलाक ' का प्रकाशन आरम्भ किया ।

भारत को पराधीनता की बेड़ियों से मुक्ति दिलाने में जितने भी राष्ट्रीय आन्दोलन हुए उनमें प्रमुख हाथ मध्यम वर्ग का ही था ।

प्रथम समाचार - पत्र वंगाल गजट का प्रथम प्रकाशन 1780 ई . में हुआ ।

प्रेस की स्वतन्त्रता तथा उसके विस्तार एवं प्रचार से ही भारतीय स्वतन्त्रता की गतिविधियों को ऊर्जा तथा प्रेरणा मिली ।

1911 ई . में हिन्दू प्रेस के साथ - साथ मुस्लिम प्रेस ने भी ईसाईयों के विरुद्ध हिन्दुओं और मुसलमानों में एकता स्थापित करने का प्रयास करना शुरू किया ।

मोहम्मद एंग्लो ओरियंटल कॉलेज की स्थापना कब हुई ?

1878 ई . में

1890 ई . में

1870 ई . में

1875 ई . में

अहमदिया आन्दोलन के प्रवर्तक थे

मिर्जा इस्माइल

मिर्जा गुलाम अहमद कादियानी

सर सैयद अहमद खाँ

मौहम्मद उल हुक

1911 में हिन्दू प्रेस के साथ किस प्रेस ने ईसाइयों के विरुद्ध विगुल वजाया ?

अखवारे आम ने

निजाम - उल - मुल्क ने

इनमें से कोई नहीं

मुस्लिम प्रेस ने

1780 ई . में किस समाचार - पत्र की शुरुआत हुई ?

भारतीय गजट

इण्डिया गजट

शंखनाद

महामना हिन्दू

प्रथम भारतीय समाचार - पत्र था

शंखनाद

पंजाब केशरी

वंगाल गजट

पांचजन्य

इसका प्रारम्भकर्ता कौन था ?

विलियम थापर

विलियम बोलस

विलियम थामस

इनमें से कोई नहीं

आधुनिक भारतीय प्रेस का प्रारम्भ कब हुआ ?

1768 ई . में

1770 ई . में

1765 ई . में

1766 ई . में

आर्य समाज का दो दलों में विघटन हुआ

1893 ई . में

1892 ई . में

1896 ई . में

1899 ई . में

आर्य समाज के संस्थापक स्वामी दयानंदजी की मृत्यु कब हुई ?

1889 ई . में

1888 ई . में

1882 ई . में

1883 ई . में

आर्य समाज की स्थापना कब हुई ?

1877 ई . में

1875 ई . में

1890 ई . में

1876 ई . में

स्कूल बुक सोसायटी की ओर से प्रकाशित अंग्रेजी की पुस्तकें दो वर्ष में कितनी विकी ?

50000

4000

60000

31000

दयानंद सरस्वती की प्रमुख पुस्तक का नाम है

वेदांत

महाभारत

रामायण

सत्यार्थ प्रकाश

स्वामी दयानंद के गुरु का नाम था

स्वामीनंद

घनानंद

देवानंद

विरजानंद

स्वामी दयानंद सरस्वती के बचपन का मूल नाम क्या था ?

कृपाशंकर

मूलशंकर

दयाशंकर

करुणाशंकर

होमरूल लीग की स्थापना कब हुई ?

1917 ई . में

1918 ई . में

1916 ई . में

1920 ई . में

थियोसोफिकल सोसायटी की भारत में सर्वप्रथम शाखा कहाँ खोली गई ?

बंगाल में

मद्रास में

मद्रास के निकट अड्यार में

बम्बई में

उपर्युक्त विद्यालय की स्थापना किसने की ?

एनीबेसेंट

दयानंद सरस्वती

पुंडरीकाक्ष

राजा राममोहन राय

बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय का नाम प्रारम्भिक अवस्था में क्या था ?

सेन्ट्रल महाविद्यालय

सेन्ट्रल विद्यालय

सेन्ट्रल कॉलेज

सेन्ट्रल स्कूल

एनीबेसेंट भारत में कब आईं ?

1895 ई . में

1880 ई . में

1893 ई . में

1872 ई . में

थियोसोफिकल सोसाइटी की स्थापना कब हुई ?

1874 ई . में

1875 ई . में

1872 ई . में

1876 ई . में

थियोसोफिकल सोसाइटी की स्थापना किसने की ?

गोविन्द रानाडे ने

कर्पूरचंद ने

एनीवेसेंट ने

राममनोहर ने

दक्कन एज्यूकेशन सोसायटी की स्थापना कब हुई ?

1883 ई . में

1884 ई . में

1885 ई . में

1890 ई . में

स्वामी विवेकानंद की मृत्यु कब हुई ?

1903 ई . में

1902 ई . में

1904 ई . में

1901 ई . में

रामकृष्ण मिशन की स्थापना कब हुई ?

1995-96 ई . में

1897-98 ई . में

1896-97 ई . में

1899-1900 ई . में

वेदांत सोसायटी की स्थापना कब हुई ?

1896 ई . में

1872 ई . में

1893 ई . में

1876 ई . में

वेदांत सोसायटी की स्थापना किसने की ?

केशवचंद्र ने

दयानंद ने

विवेकानंद ने

राजा राममोहन राय ने

विवेकानंद ने शिकागो में आयोजित धर्म सम्मेलन में कब भाग लिया ?

1895 ई . में

1896 ई . में

1894 ई . में

1893 ई . में

रामकृष्ण मिशन के संस्थापक थे

दयानंद सरस्वती

इनमें से कोई नहीं

राजा राममोहन राय

विवेकानंद

ब्रह्म समाज के अनुसार लड़की के लिए विवाह की न्यूनतम उम्र थी

12 वर्ष

13 वर्ष

15 वर्ष

14 वर्ष

ब्रह्म समाज के अनुसार लड़कों के लिए विवाह की न्यूनतम उम्र कितनी रखी गई ?

12 वर्ष

17 वर्ष

20 वर्ष

18 वर्ष

उपर्युक्त एक्ट का महत्वपूर्ण निष्कर्ष यह निकला कि

बाल - विवाह बन्द हुए

बहु - विवाह बंद हुआ

विधवा तथा अन्तर्जातीय विवाह होने लगे

सती प्रथा का अन्त हुआ

अंग्रेजी शिक्षा प्राप्त नवयुवकों को ही सरकारी सेवा में लिया जाएगा , यह निर्णय किसके शासनकाल में लिया गया ?

रूजवेल्ट

बैंटिक

मैकाले

लॉर्ड हॉर्डिंग्स

ब्रह्म मैरिज एक्ट कव तैयार हुआ ?

1875 ई . में

1872 ई . में

1873 ई . में

1874 ई . में

ब्रह्म समाज से अलग हुए गुट का नाम रखा गया

भारतीय ब्रह्म समाज

आदि ब्रह्म भारतीय समाज

आदि ब्रह्म समाज

इनमें से कोई नहीं

ब्रह्म समाज कितने भागों में विभाजित हुआ ?

दो

तीन

चार

एक

तत्वबोधिनी सभा तथा तत्वबोधिनी पत्रिका का प्रकाशन किसने किया ?

विद्या वागीश ने

केशवचंद्र ने

देवेन्द्रनाथ ठाकुर ने

इनमें से कोई नहीं

राजा राममोहन राय की मृत्यु के बाद ब्रह्म समाज की बागडोर किसने संभाली ?

देवेन्द्रनाथ ठाकुर

विद्या वागीश ने

केशवचंद्र ने

इनमें से कोई नहीं

राजा राममोहन राय ने किस साप्ताहिक पत्रिका का प्रकाशन किया

भाष्य कौमुदी

संवाद कौमुदी

कुमुद कौमुदी

दर्श कौमुदी

कलकत्ता में हिन्दू कॉलेज की स्थापना कब हुई ?

1825 ई . में

1817 ई . में

1818 ई . में

1820 ई . में

कलकता में वेदांत कॉलेज की स्थापना कब हुई ?

1826 ई . में

1825 ई . में

1827 ई . में

1828 ई . में

सती प्रथा निरोधक कानून बनाने में किसने सहयोग दिया ?

टॉल्सटाय ने

होमर ने

विलियम बैटिंक ने

हेनरी ने

सती प्रथा का अन्त कब हुआ ?

1835 ई . में

1830 ई . में

1838 ई . में

1829 ई . में

प्रशासनिक व्यय को कम करने के लिए किस शासक ने निम्न पदों पर भी भारतीयों की नियुक्ति शुरू की ?

मैकाले ने

क्लाइव ने

विलियम बैंटिंक ने

इनमें से कोई नहीं

राजा राममोहन राय ने सती प्रथा का विरोध कव शुरू किया ?

1819 ई . में

1818 ई . में

1830 ई . में

1825 ई . में

ब्रह्म समाज की स्थापना कब हुई ?

1828 ई . में

1830 ई . में

1832 ई . में

1829 ई . में

ब्रह्म समाज की स्थापना किसने की ?

विवेकानंद ने

स्वामी दयानंद सरस्वती ने

राजा राममोहन राय ने

केशवचंद्र ने

राजा राममोहन राय की दूसरी पुस्तक " प्रीसेप्ट्स ऑफ जीसस " कब प्रकाशित हुई ?

1820 ई . में

1821 ई . में

1825 ई . में

1824 ई.में

राजा राममोहन राय ने वेदों तथा उपनिषदों का किस भाषा में अनुवाद किया ?

बांग्ला में

फारसी में

उर्दू में

अंग्रेजी में

सती प्रथा को मिटाने का श्रेय किसको जाता है ?

दयानंद सरस्वती को

विवेकानंद को

राजा राममोहन राय को

केशवचंद्र को

' आत्मा सभा ' की स्थापना कब की गई ?

1815 ई . में

1818 ई . में

1817 ई . में

1816 ई . में

राजा राममोहन राय ने अंग्रेजी कम्पनी ईस्ट इण्डिया कम्पनी से त्यागपत्र कव दिया था ?

1815 ई . में

1818 ई . में

1814 ई . में

1816 ई . में

अंग्रेजी कम्पनी राजा राममोहन राय ने कब ज्वाइन की ?

1806 ई . में

1807 ई . में

1805 ई . में

1810 ई . में

राजा राममोहन राय के द्वारा लिखित पुस्तक ' तोहफत उल - मुहीद्दीन ' किस भाषा में लिखी गई है ?

वांग्ला

फारसी

अंग्रेजी

उर्दू

गवर्नर जनरल की परिषद् के विधि सदस्य के रूप में लॉर्ड मैकाले ने कव सदस्यता ग्रहण की ?

1836 ई . में

1834 ई . में

1837 ई . में

1840 ई . में

उनकी प्रसिद्ध पुस्तक ' एकेश्वरवादियों को उपहार ' कव प्रकाशित हुई ?

1818 ई . में

1811 ई . में

1810 ई . में

1809 ई . में

राजा राममोहन राय का जन्म कब हुआ था ?

1778 ई . में

1776 ई . में

1777 ई . में

1774 ई . में

राजा राममोहन राय का जन्म कहाँ हुआ था ?

मद्रास में

विहार में

कलकत्ता में

बंगाल में

अपने आन्दोलन में हेनरी ने किसको मुद्दा बनाया ?

बाल - विवाह को

बहु - विवाह को

रूढ़िगत प्रथाओं को

नारी शिक्षा को

उपर्युक्त हेनरी विवियन पेशे से कौन था ?

अंग्रेज अफसर

व्यापारी

अध्यापक

इनमें से कोई नहीं

“ यंग बंगाल आन्दोलन " का प्रमुख नेता कौन था ?

हेनरी मस्कट

हेनरी विलियम

हेनरी माओत्से

हेनरी विवियन डेरिजिओ

बंगाल में नवचेतना लाने की दिशा में प्रथम प्रयास किस संस्था ने किया ?

प्रार्थना समाज ने

कांग्रेस ने

यंग बंगाल आन्दोलन ने

ब्रह्म समाज ने

सामाजिक तथा धार्मिक सुधारों के लिए आन्दोलनों की शुरूआत हुई

कलकत्ता से

मद्रास से

बंगाल से

बिहार से

कोलबुक ने किस भारतीय ग्रन्थ का अपनी भाषा में अनुवाद किया ?

श्रीमद्भागवत

पाणिनी की व्याकरण

वेद

रामायण

विलियम जोन्स के द्वारा अपनी भाषा में अनुदित भारतीय ग्रन्थ हैं

रामायण तथा महाभारत

मनुस्मृति तथा शकुन्तला

महाभारत तथा मनुस्मृति

मनुस्मृति तथा रामायण

उपर्युक्त समिति की स्थापना किसने की ?

क्लाइव ने

फ्रांसिस जेवियर ने

एडम ने

मॉण्टेग्यू ने

वेदों का अपनी भाषा में किस विद्वान् ने अनुवाद किया ?

जोन्स ने

विलिकिंस ने

कोलवुक ने

मैक्समूलर ने

विलिकिंस ने किस भारतीय ग्रन्थ का अपनी भाषा में अनुवाद किया ?

वेदों का

महाभारत का

गीता का

रामायण का

भारत के मध्य काल को माना जाता है

उन्नति का युग

स्वर्णिम युग

अवनति युग

इनमें से कोई नहीं

प्राचीन भारत की स्थिति को किस नाम से जाना जाता है ?

स्वर्णिम युग

उन्नति का युग

अवनति युग

इनमें से कोई नहीं

सामाजिक एवं धार्मिक आन्दोलनों की बदौलत भारतीयों के जनमानस के विचारों में हुए परिवर्तन को कहा जाता

पुनर्जागरण

जन - आन्दोलन

समग्र बदलाव

पुनरावलोकन

भारतीय महिला विश्वविद्यालय की स्थापना कब

सन् 1918 ई . में

सन् 1917 ई . में

सन् 1916 ई . में

सन् 1912 ई . में

उपर्युक्त विश्वविद्यालय की शुरूआत किसने की ?

प्रोफेसर कर्वे ने

प्रोफेसर अब्दुल गनी ने

प्रोफेसर खान ने

इनमें से कोई नहीं

भारतीय महिला विश्वविद्यालय की स्थापना सर्वप्रथम कहाँ हुई ?

पुणे में

बम्बई में

मद्रास में

बंगाल में

किसी भी प्रकार के जातीय बंधन का न होना अंग्रेजी शिक्षा के प्रचार - प्रसार में

कोई प्रभाव नहीं हुआ

थोड़ा बहुत प्रभाव पड़ा

साधक बना

वाधक बना

लॉर्ड मेयो ने एक आदेश पारित किया , जिसमें यह आवश्यक था कि मुसलमानों को भी अंग्रेजी शिक्षा अनिवार्य है , वह बना

7 अगस्त , 1871 ई . में

8 अगस्त , 1872 ई . में

7 अगस्त , 1872 ई . में

8 अगस्त , 1874 ई . में

सार्वजनिक शिक्षा के लिए 10 सदस्यों की सामान्य समिति नियुक्त की गई

1826 ई . में

1825 ई . में

1823 ई . में

1824 ई . में

अलीगढ़ में मोहम्मद एंग्लो ओरियंटल कॉलेज की स्थापना कब हुई ?

1877 ई . में

1875 ई . में

1876 ई . में

1872 ई . में

1870-72 ई . में प्राथमिक स्कूलों की संख्या 16473 थी , जो 1881-82 में वढ़कर कितनी हो गई ?

82917

82817

82916

82816

अंग्रेजी संसद की ओर से नियुक्त कमेटी की रिपोर्ट पर शिक्षा व्यवस्था का घोषणा - पत्र कब जारी किया गया ?

1854 ई . में

1853 ई . में

1855 ई . में

1860 ई . में

अमृतसर तथा लाहौर में अंग्रेजी शिक्षा के प्रसार के लिए कॉलेजों की स्थापना हुई

1842 ई . में

1840 ई . में

1860 ई . में

1850 ई . में

वनारस कॉलेज की स्थापना कब की गई ?

1855 ई . में

1853 ई . में

1856 ई . में

1854 ई . में

देशी विद्यालयों के आधार पर सार्वजनिक शिक्षा पद्धति के निर्माण का प्रयास किया

टाल्सटॉय ने

रालसन ने

थॉमसन ने

मैकाले ने

शिक्षा के लिए चार्टर अधिनियम बना

1816 ई . में

1813 ई . में

1815 ई . में

1814 ई . में

पुर्तगाली पादरी फ्रांसिस जेवियर ने अनेक स्कूल खोले

1542 ई . में

1545 ई . में

1546 ई . में

1543 ई . में

किससे पूर्व का काल शिक्षा के क्षेत्र में प्रयोगों का काल कहा जाता है ?

1849 ई . से पूर्व का काल

1858 ई . से पूर्व का काल

1850 ई . से पूर्व का काल

1857 ई.से पूर्व का काल

कैथोलिक मुक्ति कानून की स्थापना की गई

1836 ई . में

1830 ई . में

1835 ई . में

1829 ई . में

लॉर्ड मैकाले गवर्नर जनरल की कौंसिल में विधि कार्यकारी सदस्य बना

1834 ई.में

1835 ई . में

1836 ई . में

1838 ई . में

देशी तथा भारतीय शिक्षा में साहित्यकता व वैज्ञानिकता नहीं है , यह मानना है

रूजवेल्ट का

मैकाले का

टॉल्सटाय का

बैंटिंक का

1817 ई . में कलकत्ता में हिन्दू कॉलेज की स्थापना किसके प्रयासों से सम्भव हुई ?

मेयर के द्वारा

टॉल्सटाय द्वारा

हेयर के द्वारा

इनमें से कोई नहीं

कलकत्ता में सार्वजनिक शिक्षा समिति की ओर से खोले जाने वाले संस्कृत कॉलेज का विरोध किसने किया ?

विवेकानंद ने

राजा राममोहन राय ने

सरस्वती दयानंद ने

सर सैयद अहमद खाँ ने

उक्त समिति की स्थापना कहाँ हुई थी ?

कलकत्ता में

मद्रास में

रंगून में

बंगाल में

उर्दू पत्रिका ' तहजीव उल अखलाक ' का प्रकाशन किसने किया ?

सर सैयद अहमद खाँ ने

मोहम्मद असफाक ने

मोहम्मद उमर खाँ ने

वशीर अहमद ने

आधुनिक शिक्षा का प्रारम्भ माना जाता है

भारतीयों के विदेश जाने से

यूरोपीय जातियों के आगमन से

फ्रांसीसी जातियों के आगमन से

इनमें से कोई नहीं

सार्वजनिक शिक्षा समिति का गठन कब हुआ ?

1826 ई . में

1827 ई . में

1825 ई . में

1823 ई . में

Download PDF

पीडीएफ डाउनलोड करें और इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें


Post a Comment

0 Comments

Promoted Posts