Join Telegram Group

आधुनिक विश्व का इतिहास ( 1500 A.D. - 2000 A.D. ) 300+ Important Short Questions & Answers For B.A. Final Year Exam

History Of Modern World Raja One Week Series B.A. Final Year Exam

मानववाद से क्या आशय है ? अथवा मानवतावादी विचारधारा क्या थी ?

मानववाद का शाब्दिक अर्थ है ' उन्नत ज्ञान'। मानववाद का अर्थ है मानव जीवन में रुचि लेना , मानव जीवन को सुखी एवं उन्नत बनाना एवं संसार में मानव के महत्त्व को प्रतिष्ठित करना ।

मानववाद का जन्मदाता कौन था ? अथवा मानववाद का पिता कौन था ?

मानववाद का जन्मदाता पेट्रार्क था ।

दो प्रमुख मानववादियों के नाम लिखिए ।

( 1 ) पैट्रार्क और ( 2 ) इरास्मस ।

' डिवाइन कॉमेडी ' का लेखक कौन था ?

' डिवाइन कॉमेडी ' का लेखक इटली का प्रकाण्ड विद्वान दाँते था ।

मैकियावली ।

मैकियावली पुनर्जागरण युग का एक प्रमुख चिन्तक था । उसकी रचनाओं में ' द प्रिन्स ' तथा ' आर्ट ऑफ वार ' प्रसिद्ध हैं । ' द प्रिन्स ' में कुटिल राजनीति का वर्णन किया गया है ।

' द स्पिरिट ऑफ लॉज ' का लेखक कौन है ? इस पुस्तक की विषय - वस्तु क्या है ?

' द स्पिरिट ऑफ लॉज ' का लेखक माण्टेस्क्यू है । इस पुस्तक में शक्तियों के पृथक्करण के सिद्धान्त का प्रतिपादन किया गया है ।

समुद्री मार्गों की खोजों के दो परिणाम लिखिए ।

( 1 ) यूरोप में वाणिज्य एवं व्यापार का विकास हुआ । ( 2 ) जहाजरानी एवं नौ - सेना के बेड़ों का विकास हुआ ।

पुनर्जागरण से आप क्या समझते हैं ?

साधारणतया चौदहवीं शताब्दी से लेकर सत्रहवीं शताब्दी तक यूरोप में सांस्कृतिक क्षेत्र में जो आश्चर्यजनक प्रगति हुई , उसे पुनर्जागरण के नाम से जाना जाता है ।

पुनर्जागरण काल के इटली के दो साहित्यकारों के नाम कम से कम उनकी एक रचना के साथ लिखिए ।

पुनर्जागरण काल में इटली के दो लेखक व उनकी रचनाएँ निम्नलिखित हैं ( i ) दांते — डिवाइन कॉमेडी । ( ii ) बोकासिओ - डेकामरोन ।

इटली में सर्वप्रथम पुनर्जागरण का उदय क्यों हुआ ?

इटली में ही सर्वप्रथम पुनर्जागरण के कारण— ( 1 ) प्राचीन रोम सभ्यता का केन्द्र , ( 2 ) व्यापारिक समृद्धि एवं विदेशी व्यापार का केन्द्र , ( 3 ) प्राचीन यूनानी संस्कृति से सम्पर्क , ( 4 ) पूर्व की समृद्ध संस्कृतियों से सम्पर्क , ( 5 ) इटली में नगरों का विकास , ( 6 ) भौगोलिक अनुकूलता , ( 7 ) इटली में शिक्षा के स्वरूप में परिवर्तन ।

निम्नलिखित पुस्तकों के लेखक कौन हैं -

( i ) मूर्खत्व की प्रशंसा ( प्रेज ऑफ फाली ) - इरेस्मस , ( ii ) मीन कैम्फ -हिटलर , ( ii ) द प्रिन्स - मैकियावली ।

सर थॉमस मूर के बारे में आप क्या जानते हैं ?

सर थॉमस मूर इंग्लैण्ड का एक प्रसिद्ध साहित्यकार था । उसने ' यूटोपिया ' नामक पुस्तक की रचना की । इस पुस्तक में उसने समाज में व्याप्त दोषों का निरूपण कर एक आदर्श समाज तथा आदर्श राज्य की कल्पना की है ।

यूटोपिया की रचना किसने की ? वह कहाँ का निवासी था ?

यूटोपिया की रचना थॉमस मूर ने की । वह इंग्लैण्ड का निवासी था ।

पुनर्जागरणकालीन इटली के तीन चित्रकारों के नाम बताइए ।

( 1 ) लियोनार्डो द विंची , ( 2 ) माइकल एंजेलो , और ( 3 ) राफेल ।

राफेल अथवा राफाऐल ।

राफेल ( 1483-1520 ई . ) इटली के महान चित्रकार एवं वास्तुशिल्पी थे । राफेल की सर्वाधिक ख्याति उसके मैडोन्ना चित्रों से है । राफेल की कला से ही बरोक शैली का विकास हुआ है ।

लियोनार्डो - द - विंची की चित्रकला की मुख्य विशेषताएँ लिखिए ।

लियोनार्डो - द - विंची की चित्रकला की मुख्य विशेषताएँ प्रकाश और छाया , रंगों का चयन तथा शारीरिक अंगों का सबल प्रदर्शन हैं ।

लियोनार्दो द विंची के दो प्रसिद्ध चित्रों / कलाकृतियों के नाम बताइए ।

लियोनार्दो द विंची के प्रसिद्ध चित्रों के नाम ' मोनालिसा ' तथा ' द लास्ट सपर ' हैं ।

पाँचवीं सदी से 14 वीं सदी ई . तक यूरोपवासियों के अन्धकार में डूबे रहने के कोई दो कारण लिखिए ।

( 1 ) शिक्षा के अभाव से बौद्धिक प्रगति का मार्ग अवरुद्ध होना । ( 2 ) पादरी वर्ग द्वारा धर्मग्रन्थों के स्वतन्त्र चिन्तन एवं बौद्धिक व्याख्या पर प्रतिबन्ध लगाना ।

पुनर्जागरण की किन्हीं दो विशेषताओं का उल्लेख कीजिए ।

( 1 ) स्वतंत्र चिन्तन को प्रोत्साहन , तथा ( 2 ) मानववादी विचारधारा का विकास

पुनर्जागरण के दो कारण बताइए ।

( 1 ) कागज और छापेखाने का आविष्कार , ( 2 ) यूरोपवासियों का पूर्व से सम्पर्क ।

पुनर्जागरणकालीन तीन प्रसिद्ध मूर्तिकारों के नाम लिखिए ।

( 1 ) दोनातेलो , ( 2 ) गिबर्टी एवं ( 3 ) माइकल एंजिलो ।

गेलीलियो कौन था ? उसके दो आविष्कार बताइए ।

गेलीलियो इटली का प्रसिद्ध वैज्ञानिक था । उसने दूरबीन तथा पेण्डुलम का आविष्कार किया ।

सौरमण्डल की गति के तीन आधारभूत नियमों का प्रतिपादन करने वाला प्रथम वैज्ञानिक कौन था ?

सौरमण्डल की गति के तीन आधारभूत नियमों का प्रतिपादन करने वाला प्रथम वैज्ञानिक कैपलर था ।

पुनर्जागरणकालीन स्थापत्यकला का सर्वश्रेष्ठ नमूना एवं उसके निर्माता का नाम बताइए ।

पुनर्जागरणकालीन स्थापत्यकला का सर्वश्रेष्ठ नमूना रोम में निर्मित सन्त पीटर का गिरजाघर है । इसका निर्माण माइकेल एंजिलो तथा राफेल ने किया था ।

मार्टिन लूथर क्यों प्रसिद्ध है ?

मार्टिन लूथर ने प्रोटेस्टेन्ट धर्म का सूत्रपात किया । उसने पाप - मोचन पत्र का विरोध कर यूरोप में धर्म सुधार आन्दोलन प्रारम्भ किया ।

' रिफारमेशन ' ( धर्म सुधार आन्दोलन ) का अर्थ समझाइए ।

यूरोपवासियों ने 16 वीं शताब्दी में पोप के धार्मिक प्रभुत्व को नष्ट करने , कैथोलिक चर्च में फैली हुई बुराइयों एवं कुरीतियों को दूर करने तथा धार्मिक पाखण्डों एवं अन्धविश्वासों को नष्ट करने के लिए जो आन्दोलन शुरू किया उसे धर्म सुधार आन्दोलन कहते हैं ।

धर्म परीक्षण का अर्थ क्या है ?

पोप पाल तृतीय ने 1542 ई . में रोम में धार्मिक न्यायालय ( इक्वीजिशन ) की स्थापना की । कैथोलिक धर्म के विरोधियों को दण्डित करने , प्रोटेस्टेन्टों का दमन करने , नास्तिकों को सजा देने आदि उद्देश्यों से इक्वीजिशन न्यायालय की स्थापना की गई थी ।

लूथर के सिद्धान्त जस्टिफिकेशन बाई फेथ ( विश्वास से पाप मुक्ति ) का क्या अर्थ है ?

लूथर के अनुसार मुक्ति केवल ईश्वर की असीम कृपा , ईश्वर में श्रद्धा तथा भक्ति से ही प्राप्त हो सकती है , न कि धर्माधिकारियों की कृपा से ।

पाप विमोचन पत्र से आप क्या समझते हैं ?

पोप लियो दशम् ने पाप मोचन पत्र बनवाए जिन्हें खरीद कर कोई भी ईसाई अपने पापों से मुक्ति प्राप्त कर सकता था । पोप के एजेन्टों ने यह घोषित किया कि जो व्यक्ति इन पापमोचन पत्रों को खरीदेगा , उसे समस्त पापों से मुक्ति मिल जाएगी ।

' जैसुइट संगठन ' से आप क्या समझते हैं ? इसका संस्थापक कौन था ?

कैथोलिक धर्म का प्रचार करने के लिए 1534 ई.में स्पेन निवासी इग्नेशियस लायोला ने जैसुइट संगठन की स्थापना की थी ।

धर्म सुधार आन्दोलन के दो उद्देश्य बताइए ।

( 1 ) पोप तथा प्रमुख धर्माधिकारियों के जीवन में नैतिक सुधार करना । ( 2 ) चर्च की राजनीतिक शक्ति को समाप्त करना ।

धर्म सुधार आन्दोलन में योगदान देने वाले चार धर्म सुधारकों के नाम लिखिए ।

( i ) जान वाइक्लिफ , ( ii ) सेवोनारोला , ( iii ) जॉन हस , ( iv ) इरैस्मस ।

चर्च की बुराइयों का विरोध करने वाले किन दो धर्म सुधारकों को पोप ने जिन्दा जलवा दिया था ?

चर्च की बुराइयों का विरोध करने वाले धर्म सुधारक जॉन हस तथा सेवोनारोला को पोप ने जिन्दा जलवा दिया था ।

प्रोटेस्टेन्ट लोग कौन थे ?

कैथोलिक चर्च और पोप का विरोध करने वाले तथा मार्टिन लूथर के विचारों का समर्थन करने वाले लोग प्रोटेस्टेन्ट थे ।

मार्टिन लूथर के दो सिद्धान्त बताइए ।

( 1 ) पोप सर्वोच्च शक्ति नहीं है । ( 2 ) मुक्ति केवल ईश्वर की कृपा से हो सकती है , धर्माधिकारी की कृपा से नहीं ।

इंग्लैण्ड में एंग्लिकन चर्च की स्थापना किसने की थी ?

इंग्लैण्ड में एंग्लिकन चर्च की स्थापना महारानी एलिजाबेथ प्रथम ने की थी ।

स्काटलैण्ड में प्रोटेस्टेन्ट धर्म का प्रसार किसने किया ? उसके अनुयायी क्या कहलाते थे ?

स्काटलैण्ड में प्रोटेस्टेन्ट धर्म का प्रसार जॉन नाक्स ने किया । उसके अनुयायी प्रेस बिटेरियन कहलाते थे ।

प्रतिवादात्मक धर्म सुधार आन्दोलन का अर्थ समझाइए ।

कैथोलिक चर्च में व्याप्त बुराइयों को दूर करने के लिए जो आन्दोलन चलाया गया था उसे प्रतिवादात्मक धर्म सुधार आन्दोलन कहते हैं ।

प्रतिवादात्मक धर्म सुधार आन्दोलन को सफल बनाने वाली संस्थाओं के नाम लिखिए ।

ट्रेण्ट की कौंसिल , जेसुइट संघ और धार्मिक न्यायालय ।

प्रतिवादात्मक धर्म सुधार आन्दोलन के दो कारण बतलाइए ।

प्रतिवादात्मक धर्म सुधार आन्दोलन के दो कारण निम्नलिखित थे— ( 1 ) प्रोटेस्टेन्ट धर्म का बढ़ता हुआ प्रभाव , ( 2 ) कैथोलिक धर्म के अनुयायियों का अदम्य उत्साह ।

' सामन्तवाद ' के विकास के दो कारण लिखिए ।

( 1 ) रोमन साम्राज्य के विघटन काल में पश्चिमी यूरोप में अराजकता और अव्यवस्था का फैलना । ( 2 ) रोमन साम्राज्य में दासों को स्वतंत्र रूप से भूमि देना ।

सामन्तवाद के पतन के दो कारण लिखिए ।

( 1 ) किसानों के विद्रोह , ( 2 ) बारूद एवं बन्दूकों का उपयोग ।

सामन्त प्रथा के दो लाभ बताइए ।

( 1 ) यूरोप में शान्ति एवं व्यवस्था स्थापित करना , ( 2 ) निरंकुश एवं स्वेच्छाचारी राजाओं को नियंत्रित करके उनकी शक्ति को सीमित करना ।

सामन्त प्रथा के दो दोष बताइए ।

( 1 ) किसानों का शोषण , ( 2 ) व्यापार - वाणिज्य की उन्नति को अवरुद्ध करना ।

' पूँजीवाद ' से क्या अभिप्राय है ?

पन्द्रहवीं शताब्दी के अन्त में विकसित होने वाली अर्थव्यवस्था को ' पूँजीवाद ' कहा जाता है । इसका उद्देश्य अधिकाधिक लाभ कमाना है ।

पूँजीवाद के उदय के दो कारण लिखिए ।

( 1 ) नवीन उपनिवेशों की स्थापना से व्यापार की उन्नति हुई । ( 2 ) बड़े पैमाने पर सिक्कों के प्रचलन से पर्याप्त धन इकट्ठा होने लगा ।

पूँजीवाद के दो प्रमुख लक्षण बताइए ।

( 1 ) इसमें उत्पादन के साधनों पर व्यक्तिगत अधिकार होता है । ( 2 ) इसमें व्यवसाय चुनने की पूरी स्वतंत्रता होती है ।

जार्ज वाशिंगटन ।

जार्ज वाशिंगटन अमेरिकी स्वतन्त्रता संग्राम का प्रमुख नेता था । जार्ज वाशिंगटन के कुशल नेतृत्व में उपनिवेशवासियों को विजय प्राप्त हुई ।

अमेरिका स्वतन्त्रता की घोषणा में मनुष्य के नैसर्गिक अधिकार कौनसे हैं ?

मनुष्य के जीवन , स्वतन्त्रता तथा सुख प्राप्ति के नैसर्गिक अधिकार हैं ।

अमेरिकी स्वतन्त्रता संग्राम के चार बौद्धिक नेताओं के नामों का उल्लेख कीजिए ।

( i ) सैमुअल एडम्स , ( ii ) पैट्रिक हेनरी , ( iii ) टामस पेन , और ( iv ) जेम्स ।

ब्रिटेन सरकार द्वारा 1764 में लगाए गए शुगर एक्ट ' का क्या उद्देश्य था ?

शुगर एक्ट 1764 का ध्येय व्यापार को नियन्त्रित किए बिना आय बढ़ाना था । इस अधिनियम से अमेरिका के व्यापारी महंगी दर पर इंग्लैण्ड का शीरा व शक्कर खरीदने को बाध्य हुए ।

' स्टाम्प एक्ट ' ( 1765 ) के बारे में आप क्या जानते हैं ?

1765 ई . में ब्रिटिश प्रधानमन्त्री ग्रेनविल ने ' स्टाम्प एक्ट ' पारित करवाया । इस अधिनियम के द्वारा अमेरिका में समाचार - पत्रों , पत्रिकाओं , अदालती तथा गैर अदालती अनुबन्ध - पत्रों , अनुज्ञा - पत्रों , विज्ञापनों , पंजीकरण एवं अन्य सभी प्रकार के दस्तावेजों के लिए स्टाम्प - पत्रों का उपयोग करना अनिवार्य कर दिया गया । अमेरिकी उपनिवेशियों ने इस कानून का घोर विरोध किया ।

' बोस्टन टी पार्टी से आप क्या समझते हैं ?

1773 में अमेरिकी लोगों ने बोस्टन बन्दरगाह पर खड़े हुए अंग्रेजों के जहाजों की 340 चाय की पेटियों को समुद्र में फेंक दिया था । इसे ' बोस्टन टी पार्टी ' कहा जाता है ।

स्टाम्प एक्ट कब पारित हुआ ? इसका उपनिवेशों के लोगों पर क्या प्रभाव पड़ा ?

स्टाम्प एक्ट 1765 ई . में पारित हुआ । इससे उपनिवेश के लोगों में घोर असंतोष उत्पन्न हो गया ।

बोस्टन हत्याकाण्ड से क्या आशय है ?

बोस्टन हत्याकाण्ड 5 मार्च , 1770 ई . को बोस्टन नगर में ब्रिटिश सैनिकों द्वारा गोली चलाने से अमेरिकी नागरिकों के मारे जाने की घटना को कहते हैं ।

सप्तवर्षीय युद्ध कब व किसके बीच लड़ा गया था ?

सप्तवर्षीय युद्ध 1756 से 1763 तक अंग्रेजों एवं फ्रांसीसियों के बीच लड़ा गया ।

अमेरिकी स्वतंत्रता संग्राम में अमेरिकी सेना का नेतृत्व किसने किया ?

अमेरिकी स्वतंत्रता संग्राम में अमेरिकी सेना का नेतृत्व जार्ज वाशिंगटन ने किया था ।

प्रथम और द्वितीय महाद्वीपीय कांग्रेस कब और कहाँ आयोजित की गई ?

5 सितम्बर , 1774 को प्रथम तथा 10 मई , 1775 को द्वितीय महाद्वीपीय कांग्रेस का आयोजन फिलाडेल्फिया में किया गया था ।

अमेरिकी स्वतंत्रता संग्राम के दो प्रसिद्ध नेताओं के नाम लिखिए ।

( 1 ) टामस जैफर्सन , और ( 2 ) जार्ज वाशिंगटन ।

पेरिस संधि की दो शर्ते बताइए ।

( 1 ) अमेरिकी उपनिवेशों की स्वतंत्रता और सम्प्रभुता स्वीकार कर ली गई । ( 2 ) फ्रांस को सेण्ट लूसिया , टोबेगो तथा सेनेगल के प्रदेश प्राप्त हुए ।

अमेरिकी स्वतंत्रता संग्राम के किस युद्ध में ब्रिटेन की निर्णायक पराजय हुई ?

अमेरिकी स्वतंत्रता संग्राम के दौरान 1781 में यार्कटाउन के युद्ध में ब्रिटेन की निर्णायक पराजय हुई ।

अमेरिकी क्रान्ति को प्रोत्साहित करने वाले चार लेखकों के नाम लिखिए ।

अमेरिकी क्रांति को प्रोत्साहित करने वाले लेखकों में टामस पेन , सेम्युअल एडम्स , पेट्रिक हेनरी और जेम्स प्रमुख थे ।

फ्रांस का समाज किन तीन वर्गों में विभाजित था ? अथवा 1789 की क्रान्ति से पूर्व फ्रांस का समाज किन - किन वर्गों में बंटा हुआ था ?

फ्रांस का समाज ( i ) पादरी अथवा धर्माधिकारी , ( ii ) कुलीन सामन्त , तथा ( iii ) साधारण लोग आदि तीन वर्गों में विभाजित था ।

तृतीय एस्टेट ।

तृतीय एस्टेट में फ्रांस की लगभग 94 % जनसंख्या आती थी । इस वर्ग में मध्यम वर्ग ( लेखक , डाक्टर , जज , वकील , अध्यापक , असैनिक अधिकारी आदि ) , किसानों , मजदूरों और दस्तकारों को सम्मिलित किया जाता था ।

फ्रांस की क्रान्ति का सूत्रपात कब हुआ ? उस समय फ्रांस का सम्राट कौन था ?

फ्रांस की क्रान्ति का सूत्रपात 5 मई , 1789 को हुआ । उस समय फ्रांस का सम्राट लुई सोलहवाँ था ।

राष्ट्रीय महासभा का गठन कब किया गया ?

राष्ट्रीय महासभा का गठन 17 जून , 1789 ई.को किया गया ।

1789 ई . में फ्रांस पर शासन करने वाले वंश और शासक का नाम लिखिए ।

1789 ई.में फ्रांस पर बुर्बों ( Bourbon ) वंश का लुई सोलहवाँ शासन करता था ।

' बास्तील के पतन ' का क्या महत्त्व है ? अथवा फ्रांस के किस दुर्ग के पतन को जनता की विजय बताया गया है ? यह पतन कब हुआ ?

बास्तील दुर्ग के पतन को जनता की विजय बताया गया है । इसका पतन 14 जुलाई , 1789 ई.को हुआ । इससे निरंकुश शासकों को आघात पहुंचा ।

फ्रांस के उन दो क्लबों के नाम बताइए जो फ्रांस की क्रान्ति 1789 के पश्चात् अस्तित्व में आए ।

( 1 ) जैकोबिन क्लब , ( 2 ) कार्डेलियर क्लब ।

फ्रांस में राष्ट्रीय सम्मेलन ने कब तक शासन किया ?

राष्ट्रीय सम्मेलन ने 21 सितम्बर , 1792 से 26 अक्टूबर , 1795 तक शासन किया ।

फ्रांस के सम्राट लुई सोलहवें को कब मृत्युदण्ड दिया गया ?

फ्रांस के सम्राट लुई सोलहवें को 21 जनवरी , 1793 ई.को मृत्युदण्ड दिया गया ।

फ्रांस में आतंक के राज्य के दो प्रमुख नेता कौन थे ?

फ्रांस में आतंक के राज्य के दो प्रमुख नेता दाँते और राब्सपियर थे ।

किस युद्ध में और कब फ्रांस ने आस्ट्रिया को पराजित किया ?

20 सितम्बर , 1792 को फ्रांस ने वालमी के युद्ध में आस्ट्रिया को पराजित कर दिया ।

टिलसिट की सन्धि कब और किसके मध्य हुई ?

रूस और फ्रांस के बीच 8 जुलाई , 1807 को टिलसिट की संधि हुई ।

कॉनकार्डेट ( Concordat ) क्या था ?

कॉनकार्डेट एक समझौता था जो नेपोलियन तथा पोप के बीच 15 जुलाई , 1801 को सम्पन्न हुआ था ।

नेपोलियन बोनापार्ट का जन्म कब और कहाँ हुआ ?

नेपोलियन बोनापार्ट का जन्म 15 अगस्त , 1769 को कोर्सिका द्वीप के अजाकिओ नामक नगर में हुआ था ।

नेपोलियन ने पिरमिडों के युद्ध में किसको पराजित किया ?

नेपोलियन ने पिरमिडों के युद्ध में मिस्र की सेनाओं को पराजित कर काहिरा पर अधिकार कर लिया ।

प्रथम कौंसल के रूप में नेपोलियन ने कब तक शासन किया ?

प्रथम कौंसल के रूप में नेपोलियन ने 1799 से 1804 ई.तक शासन किया ।

नेपोलियन विधि संहिता कब तैयार की गई ? इस विधि संहिता के कितने भाग थे ?

1804 ई . में नेपोलियन की विधि संहिता तैयार की गई । इस विधि संहिता के पाँच भाग थे— ( i ) नागरिक नियम ( सिविल कोड ) , ( ii ) सम्पत्ति सम्बन्धी नियम , ( ii ) नागरिक नियम पद्धति , ( iv ) फौजदारी नियम संग्रह , ( v ) व्यापारिक नियम संग्रह ।

नेपोलियन का सम्राट के रूप में राज्याभिषेक कब और कहाँ हुआ ?

नेपोलियन का सम्राट के रूप में 2 दिसम्बर , 1804 को नाटरडम में राज्याभिषेक हुआ |

आस्टर्लिज का युद्ध कब हुआ और किस - किसके बीच हुआ ? इस युद्ध में कौन विजयी हुआ ?

2 दिसम्बर , 1805 को फ्रांस तथा आस्ट्रिया और रूस की सम्मिलित सेनाओं के बीच आस्टर्लिज का युद्ध हुआ , जिसमें फ्रांस की विजय हुई ।

नेपोलियन ने रूस को कब और किस युद्ध में पराजित किया ?

नेपोलियन ने 14 जून , 1807 को फ्रीडलैण्ड के युद्ध में रूस को पराजित किया ।

प्रायद्वीपीय युद्धों में नेपोलियन की पराजय के दो कारण क्या थे ?

प्रायद्वीपीय युद्धों में नेपोलियन की पराजय के दो कारण थे— ( 1 ) स्पेन में राष्ट्रीयता की प्रबलता , तथा ( 2 ) स्पेन निवासियों की छापामार युद्ध प्रणाली ।

नेपोलियन को सेण्ट हेलना के द्वीप में किस युद्ध के पश्चात् भेजा गया ?

नेपोलियन को वाटरलू के युद्ध के पश्चात् सेण्ट हेलना द्वीप में निर्वासित किया गया ।

' औद्योगिक क्रान्ति ' का अर्थ बताइए ।

हाथ के स्थान पर मशीनों द्वारा बड़े - बड़े कारखानों में वस्तुओं का उत्पादन बड़े पैमाने पर होने लगा , जिसके परिणामस्वरूप व्यवसाय , यातायात , संचार आदि क्षेत्रों में महत्वपूर्ण परिवर्तन हुए , उन्हें 'औद्योगिक क्रान्ति ' के नाम से जाना जाता है ।

' औद्योगिक क्रान्ति ' शब्द का प्रयोग सर्वप्रथम किस विद्वान ने किया ?

' औद्योगिक क्रान्ति ' शब्द का प्रयोग सर्वप्रथम 1833 ई . में फ्रांसीसी लेखक ब्लांकी ने किया और तत्पश्चात् इसका प्रयोग अर्नाल्ड टायनली ने किया ।

औद्योगिक क्रान्ति इंग्लैण्ड में क्यों आरम्भ हुई ? कोई चार कारण लिखिए ।

( 1 ) इंगलैण्ड की भौगोलिक स्थिति , ( 2 ) लोहे और कोयले की प्रचुरता , ( 3 ) वैज्ञानिक आविष्कार , ( 4 ) धन की प्रचुरता ।

औद्योगिक क्रान्ति के चार कारण बताइए ।

( 1 ) साम्राज्यवादी भावना , ( ii ) जनसंख्या में वृद्धि , ( iii ) यातायात के साधनों का विकास , तथा ( iv ) फ्रांस की राज्य क्रान्ति ।

औद्योगिक क्रान्ति के किन्हीं चार प्रभावों का विवरण दीजिए ।

( 1 ) वस्तुओं के उत्पादन में अभूतपूर्व वृद्धि , ( 2 ) साम्राज्यवाद को प्रोत्साहन , ( 3 ) कुटीर उद्योगों का विनाश , ( 4 ) बेरोजगारी की समस्या ।

वायुयान का आविष्कार किसने और कब किया ?

वायुयान का आविष्कार 1903 ई . में बिलवर और ओरविले राइट नामक दो अमरीकियों ने किया था ।

अन्तर्राष्ट्रीय डाक संघ की स्थापना कब हुई ?

1874 ई.में अन्तर्राष्ट्रीय डाक संघ की स्थापना हुई ।

"" विश्व के मजदूरों एक हो जाओ , तुम्हें पूँजीवाद का नाश करना है । "" यह कथन किसका है ?

यह कथन कार्ल मार्क्स का है ।

प्रथम इण्टरनेशनल ( अन्तर्राष्ट्रीय श्रमिक संघ ) की स्थापना किसने और कब की थी ?

प्रथम इण्टरनेशनल ( अन्तर्राष्ट्रीय श्रमिक संघ ) की स्थापना लंदन में 28 सितम्बर 1864 ई . में मार्क्स द्वारा संस्थापना की घोषणा का मसौदा तैयार करने से हुई ।

वस्त्र उद्योग के क्षेत्र में चार आविष्कार बताइए ।

वस्त्र उद्योग के क्षेत्र में फ्लाइंग शटल , स्पिनिंग जैनी , वाटर फ्रेम और म्यूल का आविष्कार किया गया ।

जहाजी नहरों के निर्माण में योगदान देने वाले दो इन्जीनियरों के नाम लिखिए ।

जहाजी नहरों के निर्माण में योगदान देने वाले इन्जीनियर ड्यूक ऑफ ब्रिजवाटर तथा बिंडले थे ।

वाष्प शक्ति के क्षेत्र में दो आविष्कारों का उल्लेख कीजिए ।

वाष्प शक्ति के क्षेत्र में न्यूकामन ने भाप का आविष्कार किया तथा जेम्सवाट ने भाप के इंजन का आविष्कार किया ।

औद्योगिक क्रान्ति के चार आर्थिक परिणाम ( प्रभाव ) बताइए ।

( i ) उत्पादन में वृद्धि , ( i ) घरेलू उद्योगों का विनाश , ( II ) फैक्टरी पद्धति की स्थापना , ( iv ) नये नगरों का विकास ।

राष्ट्रवाद से क्या आशय है ?

राष्ट्रवाद एक ऐसी भावना है जिसमें व्यक्ति की उच्चतम एवं अनन्य स्वामिभक्ति राष्ट्र के प्रति समर्पित होती है ।

राष्ट्रवाद के उदय में योगदान देने वाले तीन तत्त्वों का उल्लेख कीजिए ।

( 1 ) यूरोपीय ज्ञानोदय , ( 2 ) इंग्लैण्ड की गौरवपूर्ण क्रान्ति , ( 3 ) फ्रांस की क्रांति ।।

19 वीं शताब्दी के यूरोप के नवीन युग के लक्षणों का उल्लेख कीजिए ।

( 1 ) राष्ट्रीयता , ( 2 ) उदारवाद , ( 3 ) लोकतंत्रवाद ।

राष्ट्रवादियों ने अपने आन्दोलनों में किन बातों पर बल दिया ?

( 1 ) निरंकुशता का विरोध , ( 2 ) उदारवादी प्रवृत्तियों की स्थापना , ( 3 ) लोकतंत्र की स्थापना , ( 4 ) राष्ट्रीय एकीकरण तथा विदेशी शासन से मुक्ति ।

19 वीं शताब्दी में राष्ट्रवादियों की सफलताओं का उल्लेख कीजिए ।

( 1 ) बेल्जियम की स्वतंत्रता , ( 2 ) इटली तथा जर्मनी का एकीकरण ।

1848 की क्रान्तियों से यूरोप में किन नवीन विचारों का प्रसार हुआ ?

( 1 ) लोकप्रिय सम्प्रभुता , ( 2 ) उदार संवैधानिक शासन , ( 3 ) निरंकुश एवं स्वेच्छाचारी शासन का विरोध ।

' जोलवरीन ' ( चुंगी संघ ) क्या है ?

' जोलवरीन ' एक आर्थिक संघ है । इसकी स्थापना 1834 ई . में जर्मनी के 18 राज्यों ने अपने आपसी मतभेदों को भुलाकर प्रशा के नेतृत्व में की । जोलवरीन संघ के सदस्य राज्यों ने औद्योगिक विकास के लिए यह निर्णय लिया कि वे माल का स्वतन्त्र व्यापार करेंगे तथा एक - दूसरे के माल पर चुंगी नहीं लेंगे ।

कार्बोनरी संस्था के प्रमुख दो राजनीतिक उद्देश्य लिखिए ।

विदेशियों को इटली से बाहर निकालना , तथा वैधानिक स्वतन्त्रता की स्थापना ।

"" इटली इटैलियन्स के लिए है "" , यह किसका नारा था ?

यह नारा मैजिनी का था ।

यंग इटली अथवा युवा इटली ।

मेजनी ने फ्रांस के मार्सेलीज में 1831 ई . में युवा इटली ( Young Italy ) नामक संगठन की नींव डाली । इस संस्था द्वारा इटली के निवासियों में राष्ट्रीयता , स्वतन्त्रता और प्रजातन्त्र के विचारों का प्रचार किया गया ।

युवा इटली के दो उद्देश्य बताइए ।

( i ) आस्ट्रिया को इटली से बाहर निकाल दिया जाय । ( ii ) इटली को स्वतन्त्र कर उसका एकीकरण किया जाये ।

इटली एकीकरण की किन्हीं दो समस्याओं को लिखिए ।

( 1 ) इटलीवासियों में एकता का अभाव था । ( 2 ) आस्ट्रिया इटली के एकीकरण में प्रमुख बाधा था ।

विला फ्रेंका की संधि कब और किस - किसके बीच सम्पन्न हुई ?

विला- फ्रेंका की संधि 11 जुलाई , 1859 ई.को फ्रांस और आस्ट्रिया के बीच हुई ।

ज्यूरिख की संधि कब हुई ? इससे लोम्बार्डी का प्रदेश किसे प्राप्त हुआ ?

ज्यूरिख की संधि 10 नवम्बर , 1859 ई.को हुई । इसके अनुसार लोम्बार्डी का प्रदेश सार्जीनिया को दे दिया गया ।

रोम में कब व किसके नेतृत्व में गणतंत्र की स्थापना हुई ?

रोम में फरवरी 1849 ई.में मैजिनी के नेतृत्व में गणतंत्र की स्थापना हुई ।

नेपोलियन बोनापार्ट ने जर्मनी के एकीकरण का मार्ग किस प्रकार प्रशस्त किया ?

नेपोलियन बोनापार्ट ने जर्मनी के 200 से भी अधिक राज्यों के स्थान पर 39 राज्यों का राइन संघ बनाकर एकीकरण का मार्ग प्रशस्त किया ।

“ यदि रूसो का जन्म न होता तो फ्रांस में राज्य क्रांति का होना असंभव था । "" यह कथन किसका है ?

यह कथन नेपोलियन बोनापार्ट का है ।

गेस्टाइन की संधि की दो शर्तों का उल्लेख कीजिए ।

( i ) श्लेसविग पर प्रशा का अधिकार मान लिया गया । ( ii ) हॉलस्टीन पर आस्ट्रिया का अधिकार स्वीकार कर लिया गया ।

फ्रांस व प्रशा के बीच युद्ध के किन्हीं दो कारणों का उल्लेख कीजिए ।

( i ) दक्षिणी जर्मन राज्यों पर फ्रांस का अधिकार । ( ii ) सेडोवा के युद्ध में आस्ट्रिया की पराजय से निराशा ।

फ्रेंकफर्ट की संधि की किन्हीं दो शर्तों का उल्लेख कीजिए ।

( i ) फ्रांस को मेज तथा स्ट्रास बर्ग सहित अल्सास और लारेन के प्रदेश जर्मनी को देने पड़े । ( ii ) फ्रांस पर 20 करोड़ पौंड युद्ध का हर्जाना लादा गया ।

बिस्मार्क की विदेश नीति के किन्हीं दो उद्देश्यों का उल्लेख कीजिए ।

( i ) प्रशा के नेतृत्व में जर्मनी का एकीकरण करना । ( ii ) आस्ट्रिया को पराजित करने के लिए यूरोप के बड़े देशों का समर्थन प्राप्त करना ।

लाल कुर्ती दल की स्थापना किसने की थी ?

लाल कुर्ती दल की स्थापना गैरीबाल्डी ने की थी ।

वियना कांग्रेस में सम्मिलित होने वाले देशों के चार प्रमुख प्रतिनिधियों के नाम लिखिए ।

( 1 ) आस्ट्रिया का प्रधानमंत्री मेटरनिख , ( 2 ) फ्रांस का विदेश मंत्री तैलराँ , ( 3 ) रूस का सम्राट जार एलेक्जेण्डर प्रथम , ( 4 ) इंग्लैण्ड का विदेश मंत्री कैसल रे ।

वियना कांग्रेस के दो दोषों का उल्लेख कीजिए ।

( 1 ) राष्ट्रीय भावनाओं की उपेक्षा करना , ( 2 ) जनता की भावनाओं की अवहेलना ।

मेटरनिख कौन था ?

मेटरनिख आस्ट्रिया का चांसलर ( प्रधानमंत्री ) था । वह इस पद पर 1809 से 1848 तक आसीन रहा । वह यूरोप का एक महान् कूटनीतिज्ञ था ।

मेटरनिख प्रणाली से क्या अभिप्राय है ?

मेटरनिख प्रणाली की प्रमुख विशेषताएँ थीं— ( 1 ) राष्ट्रवाद , उदारवाद और लोकतंत्र के विचारों के प्रसार को रोकना , ( 2 ) प्रतिक्रियावाद को प्रोत्साहन देना , ( 3 ) यथापूर्व स्थिति बनाए रखना ।

मेटरनिख व्यवस्था की असफलता के दो कारण लिखिए ।

( 1 ) मेटरनिख द्वारा प्रतिक्रियावादी नीति अपनाना , ( 2 ) आस्ट्रिया में राष्ट्रीयता की भावना का प्रसार होना ।

फ्रांस की 1830 की क्रान्ति के दो कारण लिखिए ।

( 1 ) चार्ल्स दशम की प्रतिक्रियावादी नीति , ( 2 ) 1830 में चार दमनकारी अध्यादेश जारी करना ।

1830 की फ्रांस की क्रान्ति के दो परिणाम लिखिए ।

( 1 ) फ्रांस में बूर्बन वंश के स्थान पर आलिया वंश की सत्ता स्थापित हुई । ( 2 ) फ्रांस में राजा के दैवीय सिद्धान्त को प्रबल आघात पहुँचा ।

1848 की फ्रांस की क्रान्ति के दो कारण लिखिए ।

( 1 ) लुई फिलिप की सरकार द्वारा धनी मध्यम वर्ग का पोषण करना । ( 2 ) लुई फिलिप की दमनकारी नीति ।

फ्रांस में लुई फिलिप के शासन के अन्त के बाद किसकी स्थापना हुई और कब हुई

फ्रांस में 24 फरवरी , 1848 को द्वितीय गणतंत्र की स्थापना हुई ।

फ्रांस की 1848 की क्रान्ति के बाद जिन यूरोपीय राज्यों में क्रान्तियाँ हुई , उनमें से चार का उल्लेख कीजिए ।

( 1 ) आस्ट्रिया - हंगरी , ( 2 ) इटली , ( 3 ) जर्मनी , ( 4 ) हालैण्ड ।

1848 की क्रान्तियों की असफलता के दो कारण लिखिए ।

( 1 ) क्रान्तियों का दमन करने में यूरोपीय सम्राटों द्वारा आपस में सहयोग करना , ( 2 ) क्रान्तिकारियों के उद्देश्यों एवं कार्यविधि की भिन्नता ।

1848 की क्रान्तियों के दो परिणाम लिखिए ।

( 1 ) यूरोप के अधिकांश देशों में प्राचीन व्यवस्था पुनः स्थापित कर दी गई । ( 2 ) इन क्रान्तियों के फलस्वरूप वैधानिक शासन को प्रोत्साहन मिला ।

बोअर लोग कहाँ रहते थे ?

बोअर लोग केप कॉलोनी में रहते थे ।

बोअर युद्ध पुनः कब शुरू हुआ ? इसमें कौन विजयी हुआ ?

बोअर युद्ध पुनः 1899 ई . में शुरू हुआ । इसमें अंग्रेजों की विजय हुई ।

बोअर युद्ध में विजय प्राप्त करने के फलस्वरूप इंग्लैण्ड का किन उपनिवेशों पर अधिकार हो गया ?

बोअर युद्ध में विजय प्राप्त करने के फलस्वरूप इंग्लैण्ड का ट्रांसवाल तथा ओरेन्ज फ्री स्टेट पर अधिकार हो गया ।

1911 ई . में जर्मनी ने मोरक्को पर किसका प्रभाव स्वीकार कर लिया ?

1911 ई . में जर्मनी ने मोरक्को पर फ्रांस का प्रभाव स्वीकार कर लिया ।

अफ्रीका में फ्रांसीसी उपनिवेशों नाम लिखिए ।

अफ्रीका में फ्रांसीसी उपनिवेश ट्यूनिस , मेडागास्कर , सेनीगल , गिनी , आइवरी , सहारा आदि थे ।

बर्लिन सम्मेलन कब और क्यों बुलाया गया था ?

बर्लिन सम्मेलन नवम्बर , 1884 ई . में कांगो की समस्या एवं अफ्रीका के भावी बंटवारे के सिद्धान्त को निर्धारित करने के लिए आयोजित किया गया था ।

फेशोदा की घटना से क्या तात्पर्य है ?

25 सितम्बर , नवम्बर 1898 को फ्रांसीसी सेनापति मार्शा ने फेशोदा पर फ्रांस का झण्डा गाड़ दिया । इसे फेशोदा की घटना के नाम से जाना जाता है ।

नवीन साम्राज्यवाद के किन्हीं दो कारणों का उल्लेख कीजिए ।

( i ) तैयार माल की खपत के लिए उपनिवेशों की आवश्यकता । ( ii ) राष्ट्रीय गौरव में वृद्धि के लिए उपनिवेशों की स्थापना ।

क्रीमिया युद्ध का मुख्य परिणाम क्या हुआ ?

क्रीमिया युद्ध से जन - धन की भीषण हानि हुई । अन्तर्राष्ट्रीय क्षेत्र में रूस की शक्ति तथा प्रतिष्ठा को आघात पहुँचा एवं युद्ध ने वियना - व्यवस्था का अन्त कर दिया ।

क्रीमिया युद्ध की घोषणा किसने और कब की ?

क्रीमिया युद्ध की घोषणा 23 अक्टूबर , 1853 को टर्की ने की ।

क्रीमिया युद्ध कब प्रारम्भ हुआ ? इस युद्ध में भाग लेने वाले देशों के नाम लिखिये ।

क्रीमिया युद्ध 1853 में प्रारम्भ हुआ । इस युद्ध में भाग लेने वाले देश थे — रूस , तुर्की , इंग्लैण्ड , फ्रांस , पीडमान्ट , सार्जीनिया ।

पेरिस की संधि कब और किस - किसके बीच सम्पन्न हुई

पेरिस की संधि 30 मार्च , 1856 को रूस व मित्र राष्ट्रों के बीच सम्पन्न हुई ।

पूर्वी समस्या के बारे में आप क्या जानते हैं ?

पूर्वी समस्या यह थी कि तुर्की साम्राज्य के पतन के बाद उसका स्थान कौन ग्रहण करे ? डॉ . मिलर के अनुसार , “ यूरोप में तुर्की साम्राज्य के क्रमशः विघटन से उत्पन्न शून्यता को भरने की समस्या को निकट पूर्व की समस्या कहते हैं । ""

बर्लिन की संधि की दो शर्तों का उल्लेख कीजिए ।

( i ) सर्बिया तथा मान्टीनीग्रो को स्वतन्त्र मान लिया । ( ii ) वृहत् बल्गारिया को तीन भागों में विभाजित कर दिया गया ।

बर्लिन कांग्रेस कब हुई ? इसके निर्णयों को कब स्वीकार किया गया ?

बर्लिन कांग्रेस 13 जून , 1878 ई.को हुई । इसके निर्णयों को 13 जुलाई , 1878 ई.को. स्वीकार किया गया ।

प्रथम बाल्कन युद्ध कब और किस - किसके बीच हुआ ?

प्रथम बाल्कन युद्ध 8 अक्टूबर , 1912 में तुर्की तथा यूनान , बुल्गारिया , सर्बिया एवं मोन्टीनीग्रो के बीच हुआ ।

प्रथम बाल्कन युद्ध का अन्त किस सन्धि से हुआ ? यह कब सम्पन्न हुई ?

प्रथम बाल्कन युद्ध का अन्त 30 मई , 1913 को लन्दन की संधि से हुआ ।

द्वितीय बाल्कन युद्ध कब और किस - किसके बीच हुआ ?

द्वितीय बाल्कन युद्ध 29 जून , 1913 ई.को बुल्गारिया तथा सर्बिया , यूनान , रुमानिया और मोन्टानीग्रो के बीच हुआ था ।

द्वितीय बाल्कन युद्ध का अन्त किस सन्धि से हुआ ? यह कब सम्पन्न हुई ?

द्वितीय बाल्कन युद्ध का अन्त बुखारेस्ट की सन्धि से हुआ । यह सन्धि 10 अगस्त , 1913 को सम्पन्न हुई ।

क्रीमिया युद्ध के किन्हीं दो परिणामों का उल्लेख कीजिए ।

क्रीमिया युद्ध के दो परिणाम निम्नलिखित थे— ( i ) अन्तर्राष्ट्रीय क्षेत्र में रूस की शक्ति तथा प्रतिष्ठा को आघात । ( ii ) जन - धन की भीषण हानि ।

बॉक्सर विद्रोह क्या था ?

चीन के राष्ट्रवादियों ने विदेशियों को चीन से बाहर निकालने के लिए 1900 ई . में एक विद्रोह किया , जिसे बॉक्सर विद्रोह के नाम से जाना जाता है ।

प्रथम अफीम युद्ध कब और किसके बीच हुआ ? इसमें कौन विजयी हुआ ?

प्रथम अफीम युद्ध 1840 ई.में चीन और इंग्लैण्ड के बीच हुआ । इस युद्ध में इंग्लैण्ड विजयी हुआ ।

प्रथम अफीम युद्ध के बाद की गई संधि का क्या नाम था ?

प्रथम अफीम युद्ध के बाद की गई संधि का नाम ' नानकिंग की सन्धि ' था ।

नानकिंग की संधि कब और किस - किस के बीच हुई ?

नानकिंग की संधि 1842 ई.में इंग्लैण्ड और चीन के बीच सम्पन्न हुई ।

द्वितीय अफीम युद्ध कब और किस - किस के बीच हुआ ?

द्वितीय अफीम युद्ध 1856 ई.में चीन और इंग्लैण्ड तथा फ्रांस की सम्मिलित सेनाओं के बीच हुआ ।

पीकिंग की संधि कब और किस - किस के बीच हुई ?

पीकिंग की संधि 1860 में चीन और इंग्लैण्ड तथा फ्रांस की सरकारों के बीच हुई ।

ताइपिंग विद्रोह कब और किसके नेतृत्व में शुरू हुआ ?

ताइपिंग विद्रोह 1851 ई.में हुंग हिसिऊ चुआन के नेतृत्व में चीन में हुआ ।

ताइपिंग विद्रोह के दो परिणाम बताइए ।

( i ) चीन में राष्ट्रीयता की भावना का विकास , ( ii ) चीन में विदेशी प्रभुत्व में वृद्धि ।

बॉक्सर प्रोटोकोल क्या था ?

7 सितम्बर , 1901 को आठ पश्चिमी देशों और चीन के बीच जो संधि हुई उसे बॉक्सर प्रोटोकोल कहते हैं ।

पीकिंग की संधि की दो शर्तों का उल्लेख कीजिए ।

( i ) तीन्तसिन को भी विदेशी व्यापार के लिए खोल दिया गया । ( ii ) कौसूल प्रायद्वीप इंग्लैण्ड को सौंप दिया गया ।

ताइपिंग विद्रोह के दो कारण बताइए ।

( i ) मंचू शासकों को अयोग्यता एवं दुर्बलता । ( ii ) चीन की जर्जरित सामाजिक एवं आर्थिक व्यवस्था ।

सनयात सेन किस देश का नेता था ?

सनयात सेन चीन का नेता था । उसके प्रयासों से ही चीन में 1911 में क्रान्ति हुई ।

सनयात सेन द्वारा स्थापित संस्थाओं के नाम लिखिए ।

( 1 ) तुंग - मेंग - हुई , ( 2 ) कुओमिनतांग दल , ( 3 ) शिंग - चुंग - हुई ।

' तुंग - मंग - हुई ' संगठन की स्थापना कब और किसके द्वारा की गई थी ? इस संगठन ने किस पत्रिका का प्रकाशन प्रारम्भ किया ?

' तुंग - मेंग - हुई ' संगठन की स्थापना सितम्बर , 1905 में टोकियो में डॉ.सनयात सेन के नेतृत्व में हुई । इस संगठन ने ' सिन पाओ ' नामक एक पत्रिका का प्रकाशन प्रारम्भ किया था जिसमें कहा गया था कि चीन विकास की मन्द गति को छोड़कर तथा द्रुत क्रान्ति का मार्ग पकड़कर पश्चिमी देशों की बराबरी कर सकता है ।

तुंग - मेंग - हुई के चार उद्देश्य बताइए ।

( i ) मंचू वंश के शासन को समाप्त करना , ( ii ) पाश्चात्य देशों के शोषण से चीन को मुक्ति दिलाना , ( iii ) चीन में गणतन्त्र की स्थापना , ( iv ) भूमि का राष्ट्रीयकरण ।

डॉ.सनयात सेन चीनी गणराज्य का राष्ट्रपति कब बना ?

डॉ.सनयात सेन चीनी गणराज्य का राष्ट्रपति 1 जनवरी , 1912 ई.को बना ।

1905 ई . में डॉ.सनयात सेन ने किस संस्था की स्थापना की ?

डॉ . सनयात सेन ने तुंग - मेंग - हुई नामक संस्था की स्थापना की ।

चीन में साम्यवादी दल की स्थापना कब और किसकी प्रेरणा से हुई ?

साम्यवादी दल की स्थापना 1921 ई.में रूसी बोल्शेविक क्रान्ति की प्रेरणा से हुई ।

डॉ . सनयात सेन के तीन सिद्धान्तों का उल्लेख कीजिए ।

डॉ . सनयात सेन के तीन सिद्धान्त थे— ( i ) राष्ट्रीयता का सिद्धान्त , ( ii ) लोकतंत्र का सिद्धान्त , तथा ( iii ) सामाजिक न्याय का सिद्धान्त ।

सनयात सेन की मृत्यु के बाद कुओमिनतांग पार्टी का नेतृत्व किसने किया ?

सनयात की मृत्यु के बाद कुओमिनतांग पार्टी का नेतृत्व च्यांग - काई शेक ने किया ।

सनयात ने कब तथा किसकी सलाह से कुओमिनतांग दल का पुनर्गठन किया ?

डॉ . सनयात सेन ने 1923 ई . में रूसी सलाहकार माइकेल बोरोडिन की सलाह से कुओमिनतांग दल का पुनर्गठन किया ।

1911 ई . में चीनी क्रांति का तात्कालिक कारण क्या था ?

1911 ई.में चीनी क्रांति का तात्कालिक कारण हांको की रूसी बस्ती में एक घर में बम का विस्फोट होना था ।

हांको विद्रोह के बारे में आप क्या जानते हैं ?

1911 में हांको में क्रान्तिकारी गुप्त रूप से बम बना रहे थे । एक बम फट गया । विस्फोट स्थान की तलाशी में क्रान्तिकारियों के नामों की एक सूची मिली । इसमें सेना व अधिकारियों के नाम थे । इस रहस्य के उद्घाटन से उनका जीवन खतरे में पड़ गया । इन्हीं अधिकारियों ने विद्रोह कर नगर पर अधिकार कर लिया ।

चीन में मंचू राजवंश का अन्त कब हुआ तथा किसे चीनी गणराज्य का राष्ट्रपति बनाया गया ?

चीन में मंचू राजवंश का अन्त 12 फरवरी , 1912 ई.को हुआ तथा युआन शीकाई को चीनी गणराज्य का राष्ट्रपति नियुक्त किया गया ।

1911 की चीनी क्रांति की असफलता के चार कारण बताइए ।

( i ) युआन शीकाई की प्रतिक्रियावादी नीति , ( ii ) राष्ट्रीयता की भावना का अभाव , ( iii ) जनता में जागृति का अभाव , ( iv ) जनता की आर्थिक दुर्दशा ।

शिमोनिस्की की सन्धि ( 1895 ) की प्रमुख शर्त बताइए ।

शिमोनिस्की की सन्धि से कोरिया को स्वतन्त्र मान लिया गया ।

समुराई कौन थे ?

जापान में सैनिकों को समुराई वर्ग के नाम से जाना जाता था ।

जापान के आधुनिकीकरण की प्रक्रिया में शिक्षा के क्षेत्र में क्या सुधार किये गये ?

1871 ई.में जापान में शिक्षा विभाग की स्थापना की गई । कानून बनाकर घोषणा की गयी कि प्रत्येक वर्ग के स्त्री एवं पुरुष के लिए शिक्षा अनिवार्य है । 1872 से जापान में अनिवार्य प्राथमिक शिक्षा के सिद्धान्त को लागू किया गया ।

कनगावा की संधि कब और किस - किसके बीच हुई ?

कनगावा की संधि मार्च 1854 ई.में जापान और अमेरिका के बीच सम्पन्न हुई ।

' मेजी ' उपाधि जापान के किस सम्राट ने धारण की थी ? इसका क्या अर्थ था ?

' मेजी ' की उपाधि जापान के सम्राट मुत्सुहितो ने धारण की थी , जिसका अर्थ है— बुद्धिमत्तापूर्ण शासन ।

जापान के आधुनिकीकरण के दो परिणाम बताइए ।

( i ) जापान को खोई हुई सम्प्रभुता पुनःप्राप्त होना । ( ii ) जापान में सैन्यवादी तथा साम्राज्यवादी भावना का विकास ।

प्रथम चीन - जापान युद्ध कब हुआ ? इसके दो कारणों का उल्लेख कीजिए ।

प्रथम चीन - जापान युद्ध 1894-95 ई . में हुआ । इसके दो कारण थे— ( i ) कोरिया की भौगोलिक स्थिति , तथा ( ii ) कोरिया का आर्थिक और सामरिक महत्त्व ।

रूस - जापान युद्ध कब हुआ ? इसमें किसकी विजय हुई ?

रूस - जापान युद्ध 1904-05 ई.में हुआ । इस युद्ध में जापान विजयी रहा ।

जापान - अमेरिका के बीच द्वितीय संधि कब हुई ? इसकी प्रमुख शर्त क्या थी ?

जापान तथा अमेरिका के बीच द्वितीय संधि 20 जून , 1858 ई.को हुई । इसके अनुसार अमेरिकी नागरिकों को जापानी कानून तथा न्याय व्यवस्था से मुक्त रखा गया ।

जापान में शासन की वास्तविक शक्ति किसके हाथों में केन्द्रित थी ?

जापान में शासन की वास्तविक शक्ति ' शोगुन ' के हाथों में केन्द्रित थी ।

शोगुन व्यवस्था क्या थी ?

जापान में 1603 से तोकुगावा परिवार का शासन था । इस परिवार के मुखिया को शोगुन अर्थात् सैनिक तानाशाह की उपाधि प्राप्त थी । यह उपाधि वंशानुगत होती थी । कानूनी सत्ता शोगुन के पास होती थी । उसे ही शक्ति का एकाधिकार प्राप्त था ।

मैजी पुनर्स्थापना से क्या तात्पर्य है ?

मैजी पुनस्र्थापना से तात्पर्य सम्राट की शक्ति को पुनर्स्थापना से है । 1868 में शासन सत्ता शोगुन के हाथ से निकलकर सम्राट के हाथों में आ गई थी ।

धुरी राज्यों और मित्र राज्यों के गुट में क्रमशः कौनसे देश ( प्रथम विश्व युद्ध के दौरान ) सम्मिलित थे ?

प्रथम विश्वयुद्ध के दौरान धुरी राज्यों में आस्ट्रिया , जर्मनी तथा सर्बिया इत्यादि राज्य और मित्र राज्यों में इंग्लैण्ड , फ्रांस तथा रूस शामिल थे ।

' ट्रिपल एतान्त ' क्या था ? अथवा त्रिराष्ट्र मैत्रीगुट ।

ट्रिपल एतान्त अर्थात् त्रिराष्ट्र मैत्री गुट का निर्माण 1907 ई . में हुआ । इस गुट में इंग्लैण्ड , फ्रांस तथा रूस सम्मिलित थे ।

ट्रिपल एलायंस व ट्रिपल एतान्त के सदस्य राष्ट्रों के नाम लिखिए ।

ट्रिपल एलायंस के सदस्य राष्ट्र थे — जर्मनी , आस्ट्रिया तथा इटली । ट्रिपल एतान्त के सदस्य राष्ट्र थे — इंग्लैण्ड , फ्रांस तथा रूस ।

प्रथम विश्वयुद्ध का प्रारम्भ व अन्त कब हुआ ?

प्रथम विश्वयुद्ध का प्रारम्भ 28 जुलाई , 1914 को हुआ तथा 11 नवम्बर , 1918 को अन्त हुआ ।

प्रथम विश्वयुद्ध के बाद कौनसी दो महाशक्तियों का उदय हुआ ?

प्रथम विश्वयुद्ध के बाद संयुक्त राज्य अमेरिका और जापान का महाशक्ति के रूप में उदय हुआ ।

त्रिगुट का निर्माण कब हुआ ? इसमें कौनसे देश सम्मिलित थे ?

त्रिगुट का निर्माण 1882 में हुआ । इसमें जर्मनी , आस्ट्रिया और इटली शामिल थे ।

आस्ट्रिया ने सर्बिया के विरुद्ध युद्ध की घोषणा कब की ?

आस्ट्रिया ने 28 जुलाई , 1914 ई.को सर्बिया के विरुद्ध युद्ध की घोषणा की ।

प्रथम विश्व युद्ध में अमेरिका ने कब और क्यों भाग लिया ?

प्रथम विश्व युद्ध में अमेरिका ने 6 अप्रैल , 1917 को जर्मनी द्वारा उसके 5 व्यापारी जहाजों को डुबो देने की घटना से नाराज होकर भाग लिया ।

केन्द्रीय शक्तियों में कौनसे चार राज्य सम्मिलित थे ?

केन्द्रीय शक्तियों में जर्मनी , आस्ट्रिया - हंगरी , तुर्की तथा बल्गारिया सम्मिलित थे ।

ऐसे चार अन्तर्राष्ट्रीय संकटों का उल्लेख कीजिए जिन्होंने प्रथम विश्वयुद्ध को प्रोत्साहित किया ।

मोरक्को संकट , बोस्निया संकट , इटली का ट्रिपोली पर आक्रमण , बाल्कन युद्ध ।

प्रथम विश्व युद्ध के कोई दो कारण लिखिए ।

( 1 ) गुप्त संधियाँ तथा सैनिक गुटबन्दियाँ , ( 2 ) आर्थिक साम्राज्यवाद ।

प्रथम विश्व युद्ध के कोई चार परिणाम बताइए ।

प्रथम विश्व युद्ध के चार परिणाम निम्नलिखित थे— ( 1 ) निरंकुश राजतंत्रों का अन्त , ( ii ) लघु राज्यों का उदय , ( iii ) लोकतंत्र का विकास , ( iv ) राष्ट्रसंघ की स्थापना ।

मेंडेट पद्धति क्या थी ?

पेरिस शान्ति सम्मेलन में धुरी राष्ट्रों के उपनिवेशों को उनसे छीनकर राष्ट्रसंघ को दे दिए गए थे । राष्ट्रसंघ ने इन्हें मेण्डेट व्यवस्था के अन्तर्गत इंग्लैण्ड , फ्रांस , बेल्जियम , जापान आदि देशों के संरक्षण में शासन हेतु दे दिए थे । संरक्षक देश प्रतिवर्ष इनके शासन की रिपोर्ट राष्ट्रसंघ में प्रस्तुत करते थे ।

राष्ट्रसंघ की स्थापना कब हुई ? इसका प्रधान कार्यालय कहाँ पर था ?

राष्ट्रसंघ की स्थापना 10 जनवरी , 1920 ई . को हुई । इसका प्रधान कार्यालय स्विट्जरलैण्ड की राजधानी जेनेवा में था ।

राष्ट्रसंघ के चार स्थायी सदस्य कौन - कौन थे ?

राष्ट्रसंघ के चार स्थायी सदस्य फ्रांस , ब्रिटेन , जापान , इटली एवं सं.रा.अमेरिका थे ।

राष्ट्रसंघ के अन्तर्राष्ट्रीय न्यायालय का मुख्यालय कहाँ था ? इसमें कितने न्यायाधीश थे ?

राष्ट्र संघ के अन्तर्राष्ट्रीय न्यायालय का मुख्यालय हालैण्ड के हेग नगर में था । इसमें न्यायाधीशों की संख्या 15 थी ।

राष्ट्रसंघ की स्थापना का उद्देश्य बताइए ।

राष्ट्रसंघ की स्थापना का उद्देश्य शांति व सहयोग को बढ़ाने तथा भविष्य में युद्धों की विभीषिका से बचना था ।

राष्ट्रसंघ की असफलता के कोई चार कारण लिखिए । अथवा लीग ऑफ नेशन्स की असफलता के दो कारण लिखिए ।

( i ) संयुक्त राज्य अमेरिका का सदस्य न होना । ( ii ) अन्तर्राष्ट्रीय सेना का अभाव । ( i ) अधिनायकवाद का उदय । ( iv ) राष्ट्र संघ के संविधान के दोष ।

राष्ट्रसंघ के आर्थिक सहयोग के क्षेत्र में कोई दो कार्य बताइए ।

( i ) आर्थिक एवं वित्तीय समितियों की स्थापना करना । ( ii ) अन्तर्राष्ट्रीय सहायता संघ का निर्माण करना ।

राष्ट्रसंघ जिन चार राजनीतिक विवादों के समाधान में असफल रहा , उनका उल्लेख कीजिए ।

( i ) कर्फ्यू विवाद , ( ii ) जापान का मंचूरिया पर आक्रमण , ( iii ) इटली द्वारा एबीसीनिया पर आक्रमण , ( iv ) स्पेन का गृह युद्ध ।

राष्ट्रसंघ के दो प्रशासनात्मक कार्य बताइए ।

( i ) सार घाटी का प्रशासन , ( ii ) डेंजिग का प्रशासन ।

ऐसी कोई दो सामाजिक कुरीतियाँ बताइए जिनका राष्ट्रसंघ ने अन्त किया ।

( i ) स्त्रियों का अनैतिक व्यापार , ( ii ) मादक द्रव्यों का प्रयोग ।

बोल्शेविक कौन थे ?

7 नवम्बर , 1917 को रूस में दूसरी राज्य क्रान्ति हुई इसे बोल्शेविक क्रांति भी कहा जाता है । बोल्शेविक दल के प्रमुख संस्थापक लेनिन थे । रूस के श्रमिकों के संगठन में बोल्शेविकों का वर्चस्व था। ये रूस में साम्यवाद की स्थापना तथा सर्वहारा वर्ग की सरकार की स्थापना करना चाहते थे ।

रूस में ' खूनी रविवार ' ( 22 जनवरी , 1905 ) की घटना क्या थी ?

रूस के इतिहास में 22 जनवरी , 1905 का रविवार खूनी रविवार के नाम से प्रसिद्ध है । इस दिन दो लाख मजदूरों ने फादर गेपन के नेतृत्व में जार निकोलस द्वितीय के राजमहल के सामने प्रदर्शन किया और शासन में सुधारों की माँग की । परन्तु जार के सैनिकों द्वारा प्रदर्शनकारियों पर गोलियाँ चलाने से अनेक प्रदर्शनकारी मारे गए । 22 जनवरी का वह रविवार जार की बर्बरता का प्रतीक बन गया ।

' इस्करा ' के बारे में आप क्या जानते हैं ?

' इस्करा ' एक समाचार - पत्र था जिसका प्रकाशन लेनिन ने प्रारम्भ किया था ।

1917 की रूस की साम्यवादी क्रांति के समय रूस का जार ( सम्राट ) व उसके वंश का नाम बताइए ।

1917 की रूस की साम्यवादी क्रांति के समय रूस का जार निकोलस द्वितीय था । उसके वंश का नाम रोमोनाव वंश था ।

रूस ने प्रथम विश्व युद्ध से अलग होने के लिए जर्मनी के साथ कब और कौनसी संधि की ?

रूस ने जर्मनी के साथ ' ब्रेस्ट लिटोवस्क की संधि ' 3 मार्च , 1918 ई.को की ।।

रूस में क्रांति के फलस्वरूप किस शासन व्यवस्था की स्थापना हुई ?

रूस में क्रांति के फलस्वरूप साम्यवादी शासन व्यवस्था की स्थापना हुई ।

लेनिन कौन था ? उसका जन्म कब और कहाँ हुआ था ?

लेनिन सोवियत संघ में साम्यवादी विचारधारा का जन्मदाता था । उसका जन्म 1870 में वेल्गा नदी के किनारे स्थित सिम्बिरक नामक स्थान पर हुआ था ।

बोल्शेविकों के समाचार पत्र का क्या नाम था ?

बोल्शेविकों के समाचार पत्र का नाम ' प्रावदा ' था ।

बोल्शेविक व मेन्शेविक में क्या मतभेद था ?

बोल्शेविक रूस में जारशाही को समाप्त करके पूर्णत : जनतंत्रीय शासन की स्थापना करने के पक्ष में थे , जबकि मेन्शेविक जार के नेतृत्व में ही सुधार के पक्ष में थे ।

लेनिन की मृत्यु के पश्चात् बोल्शेविक दल कितने भागों में विभाजित हो गया था ? प्रत्येक के नेता का नाम भी बताइए ।

लेनिन की मृत्यु के पश्चात् बोल्शेविक दल सैद्धान्तिक दृष्टिकोण से दो भागों में विभाजित हो गया । एक दल का नेता ट्राटस्की था और दूसरे का नेता स्टालिन था ।

लेनिन ने ' युद्ध साम्यवाद ' की नीति कब और क्यों अपनाई ?

लेनिन ने ' युद्ध साम्यवाद ' की नीति संकटकालीन स्थिति से निबटने के लिए 1918 ई . में अपनाई थी ।

सोवियत संघ के नवीन संविधान में संघीय संसद के कितने सदनों की व्यवस्था की गयी थी ?

दो सदनों की ( i ) संघीय परिषद , तथा ( ii ) राष्ट्रीयताओं की परिषद ।

बुर्जवाजी ।

बुजुर्वा या बुर्जवाजी वर्ग श्रेणी में तथाकथित कुलीन एवं साधन सम्पन्न लोगों को , जबकि सर्वहारा की कोटि में जनसामान्य को रखा जाता है । यूरोप में 18 वीं सदी में बुर्जुवाजी वर्ग को पूँजीपति और पूँजी से सम्बन्धित संस्कृति पर नियन्त्रण रखने वाला समझा जाता था ।

लिऑन ट्रॉस्टस्की ।

लिऑन ट्रॉस्टकी ( 1879-1940 ई . ) - रूस के माक्सर्वादी क्रांतिकारी तथा लाल सेना के संस्थापक थे । रूसी क्रांति के बाद हुए भीषण गृह युद्ध में विजयी रही लाल सेना की कमान इनके हाथ में थी ।

बोल्शेविक सरकार ने किस सेना की सहायता से क्रान्ति - विरोधियों को पराजित कर दिया था ?

बोल्शेविक सरकार ने लाल सेना की सहायता से क्रान्ति - विरोधियों को पराजित कर दिया था ।

' नयी व्यवस्था ' ( न्यू डील ) के प्रमुख उद्देश्य क्या थे ?

नयी व्यवस्था ( न्यू डील ) के प्रमुख उद्देश्य थे— ( 1 ) अधिक टिकाऊ समृद्धि की स्थापना , ( 2 ) आर्थिक मन्दी के दुष्परिणाम दूर करना , ( 3 ) कृषि एवं उद्योगों में संतुलन लाना , ( 4 ) आन्तरिक बाजार समृद्ध और विशाल बनाना , तथा ( 5 ) अन्य देशों के साथ व्यापार बढ़ाना ।

विश्व आर्थिक मंदी के दो कारण बताइए ।

( 1 ) अधिक उत्पादन व क्रयशक्ति में गिरावट । ( 2 ) क्षतिपूर्ति व युद्ध ऋणों की समस्या ।

आर्थिक संकट के चार परिणाम बताइए ।

आर्थिक संकट के परिणाम थे— ( i ) राजकीय नियन्त्रण में वृद्धि , ( ii ) आर्थिक राष्ट्रवाद को प्रोत्साहन , ( iii ) प्रजातंत्र को आघात , ( iv ) अधिनायकवाद का उत्कर्ष ।

आर्थिक मंदी के कारण किन देशों में अधिनायकवाद का उदय हुआ ?

आर्थिक मंदी के कारण इटली , जर्मनी और स्पेन में अधिनायकवाद का उदय हुआ ।

आर्थिक संकट से निपटने के लिए अमेरिका के राष्ट्रपति रूजवेल्ट ने कौनसी नीति अपनाई ?

आर्थिक संकट से निपटने के लिए अमेरिका के राष्ट्रपति रूजवेल्ट ने ' न्यू डील ' की नीति अपनाई ।

वाल स्ट्रीट संकट क्या था ?

अक्टूबर 1929 में अमेरिका के प्रसिद्ध शेयर बाजार वाल स्ट्रीट में अचानक शेयरों का मूल्य 50 अरब डालर तक गिर गया । इसे वाल स्ट्रीट संकट कहते हैं ।

आर्थिक मंदी का किन देशों पर घातक प्रभाव पड़ा ?

आर्थिक मंदी का आस्ट्रिया और जर्मनी पर घातक प्रभाव पड़ा ।

आर्थिक मंदी का तात्कालिक कारण क्या था ?

आर्थिक मंदी का तात्कालिक कारण अक्टूबर , 1929 में अमेरिका के प्रसिद्ध शेयर बाजार में गिरावट आना था ।

आर्थिक मंदी का काल कब तक रहा ?

आर्थिक मंदी का काल 1929 ई.से 1934 ई.तक रहा ।

आर्थिक मंदी के कारण इटली में किसका उत्कर्ष हुआ ?

आर्थिक मंदी के कारण इटली में मुसोलिनी का उत्कर्ष हुआ ।

पोपोलो - डी - इटेलिया ।

फासिस्टवादी विचारों के प्रचार हेतु मुसोलिनी ने पोपोलो - डी - इटेलिया नामक समाचार - पत्र का प्रकाशन किया ।

फासीवाद ( सैन्यवाद ) का आधारभूत सिद्धान्त क्या था ? अथवा फासीवाद के चार सिद्धान्त बताइए ।

( 1 ) एक दल और एक नेता में विश्वास । ( 2 ) लोकतन्त्र तथा साम्यवाद का विरोधी । ( 3 ) राज्य व्यक्ति के लिए नहीं है बल्कि व्यक्ति राज्य के लिए है । ( 4 ) वर्ग संघर्ष का विरोधी अर्थात् सबको एक ही समाज का अंग मानना ।

मुसोलिनी की विदेश नीति का क्या उद्देश्य था ?

मुसोलिनी ने उग्र विदेश नीति का अनुसरण किया , जिसका लक्ष्य इटली को अन्तर्राष्ट्रीय जगत में गौरवपूर्ण स्थान दिलाना , भूमध्यसागर को इटली की झील बनाना , अफ्रीका में विशाल साम्राज्य स्थापित करना तथा वर्साय सन्धि में संशोधन करना था ।

नात्सी दल व इसके संस्थापक का पूरा नाम लिखिए ।

नात्सी अथवा नाजी दल का पूरा नाम राष्ट्रीय समाजवादी जर्मन मजदूर दल था । इस दल की स्थापना एडोल्फ हिटलर ने की थी ।

मीन कैम्फ क्या है ?

1923 ई.में जर्मनी की सरकार के विरुद्ध विद्रोह पर हिटलर को 5 वर्ष के कारावास का दण्ड मिला । जेल में रहते हुए उसने ' मीन कैम्फ ' अर्थात् ' मेरा संघर्ष ' नामक पुस्तक लिखी जिसमें नाजी दल के सिद्धान्तों , योजनाओं और कार्यक्रमों का विस्तार से वर्णन किया गया है ।

1937 का सज्जन समझौता ( Gentlemen's Agreement ) क्या था ?

इंग्लैण्ड , इटली को मित्र बनाने के लिए प्रयत्नशील था । अत : 2 जनवरी , 1937 को दोनों के बीच एक समझौता हुआ , जिसे इतिहास में सज्जन समझौता कहते हैं । इसमें दोनों ने स्पेन की तटस्थता और अखण्डता को स्वीकार करने और भूमध्यसागर में गुजरने की स्वाधीनता के सिद्धान्त को मान्यता दी ।

फासीवाद का लक्ष्य लिखिए ।

फासीवाद का लक्ष्य सर्वसत्तात्मक राज्य की स्थापना करना था ।

क्या इटली की राजनीतिक परिस्थितियाँ फासीवाद के उदय के लिए उत्तरदायी थीं ?

हाँ , इटली की राजनीतिक परिस्थितियाँ फासीवाद के उदय के लिये उत्तरदायी थीं । यथा— ( 1 ) पेरिस शान्ति सन्धियों से निराशा , ( 2 ) इटली की सरकार की अयोग्यता और दुर्बलता , ( 3 ) समाजवादियों का बढ़ता हुआ प्रभाव , ( 4 ) राष्ट्रवादियों में असन्तोष ।

हिटलर ने राष्ट्र संघ की सदस्यता से कब और क्यों त्याग पत्र दिया ?

14 अक्टूबर , 1933 को हिटलर ने जर्मनी को शस्त्रीकरण का अधिकार अथवा अन्य राष्ट्रों द्वारा जर्मनी के समान निःशस्त्रीकरण के पालन के प्रस्ताव का फ्रांस द्वारा विरोध करने पर राष्ट्र संघ से त्यागपत्र दे दिया ।

फासिस्ट दल की स्थापना किसने और कब की थी ?

फासिस्ट दल की स्थापना 23 मार्च , 1919 को मुसोलिनी ने मिलान नगर में की थी ।

मुसोलिनी इटली का प्रधानमंत्री कब बना ?

मुसोलिनी इटली का प्रधानमंत्री 30 अक्टूबर , 1922 ई.को बना ।

इटली ने एबीसिनिया पर आक्रमण कब किया ?

इटली ने एबीसिनिया पर आक्रमण 1935 ई.में किया था ।

एबीसिनिया युद्ध के दो परिणाम बताइए ।

( i ) राष्ट्रसंघ की दुर्बलता प्रकट होना , तथा ( ii ) इटली व जर्मनी में घनिष्ठ सम्बन्ध स्थापित होना ।

फौलादी समझौता कब और किस - किसके बीच हुआ ?

फौलादी समझौता 22 मई , 1939 को इटली और जर्मनी के बीच हुआ ।

जर्मनी में नाजीवाद के उत्थान के कोई दो कारण बताइए ।

( i ) वर्साय की संधि से जर्मन लोगों में असंतोष । ( ii ) जर्मन जनता की सैनिक मनोवृत्ति ।

म्यूनिख समझौता कब व किस - किसके बीच सम्पन्न हुआ था ?

म्यूनिख समझौता 29 सितम्बर , 1938 ई . को इंग्लैण्ड , फ्रांस , इटली तथा जर्मनी के बीच सम्पन्न हुआ था ।

रोम - बर्लिन धुरी का निर्माण कब हुआ ?

26 अक्टूबर , 1936 को रोम - बर्लिन धुरी का निर्माण हुआ था ।

म्यूनिख समझौते की दो शर्तों का उल्लेख कीजिए ।

( i ) चैक सरकार 1 अक्टूबर से 10 अक्टूबर तक सुडेटन प्रदेश खाली कर देगी । ( ii ) सुडेटन प्रदेश खाली करते समय किसी किलेबन्दी या अन्य इमारतों को नष्ट नहीं किया जायेगा ।

हिटलर जर्मनी का प्रधानमंत्री कब और कैसे बना ?

हिटलर 30 जनवरी , 1933 को पोपन के षड्यन्त्र से जर्मनी का प्रधानमंत्री बना ।

फ्यूहरर किसको कहा जाता था ?

फ्यूहरर नाजीदल के नेता एडोल्फ हिटलर को कहा जाता था ।

जायोनिज्म ।

नाजीवाद के अत्याचारों ने यहूदियों में जागृति उत्पन्न कर दी । उन्होंने एक पृथक् स्वतन्त्र यहूदी राज्य की स्थापना के उद्देश्य से यहूदीवाद या जियोनिज्म ( Zionism ) नाम से एक आन्दोलन प्रारम्भ किया ।

राष्ट्र - राज्य ।

राष्ट्रवाद मस्तिष्क की वह अवस्था है जिसमें व्यक्ति की सर्वश्रेष्ठ निष्ठा उसके राष्ट्र राज्य के प्रति होती है । जहाँ राष्ट्र व राज्य में एकरूपता हो वहां राष्ट्र राज्य विद्यमान होता है ।

"" वर्साय की सन्धि एक सन्धि नहीं वरन् बीस वर्ष के लिए युद्ध विराम था । "" यह कथन किसका है ?

यह कथन मित्र राष्ट्रों के सेनापति मार्शल फौच का है ।

द्वितीय विश्वयुद्ध के चार कारण लिखिए ।

( 1 ) वर्साय को सन्धि से उत्पन्न असन्तोष , ( 2 ) ब्रिटिश तुष्टिकरण की नीति , ( 3 ) विश्वव्यापी आर्थिक मंदी , ( 4 ) विश्व का दो गुटों में बँटना ।

द्वितीय विश्व युद्ध का सूत्रपात्र कब व किस घटना से हुआ ?

द्वितीय विश्व युद्ध का सूत्रपात 1 सितम्बर , 1939 को हिटलर के पौलैण्ड पर आक्रमण करने की घटना से हुआ ।

द्वितीय विश्वयुद्ध का तात्कालिक कारण क्या था ?

1 सितम्बर , 1939 को जर्मनी ने पोलैण्ड पर आक्रमण कर दिया । ब्रिटेन व फ्रांस की चेतावनी पर भी जब युद्ध बन्द नहीं किया तो ब्रिटेन व फ्रांस द्वारा भी जर्मनी के विरुद्ध युद्ध की घोषणा कर दी गयी । इस प्रकार द्वितीय विश्व युद्ध का तात्कालिक कारण जर्मनी का पोलैण्ड पर आक्रमण था ।

दो कारण लिखिए जिसके कारण अमेरिका को द्वितीय महायुद्ध में भाग लेना पड़ा ।

( 1 ) द्वितीय विश्व युद्ध में 7 दिसम्बर , 1941 को जापान ने अमेरिका के नौ - सैनिक अड्डे पर्ल हार्बर पर आक्रमण कर दिया , जिससे नाराज होकर अमेरिका द्वितीय महायुद्ध में शामिल हो गया । ( 2 ) विश्व में प्रजातंत्रीय शासन को बनाए रखना ।

अमेरिका ने जापान के किन नगरों पर परमाणु बम गिराये और कब ?

अमेरिका ने 6 व 9 अगस्त , 1945 को जापान के हिरोशिमा व नागासाकी नगरों पर परमाणु बम गिराये ।

द्वितीय महायुद्ध कब तक चला ?

द्वितीय महायुद्ध 1 सितम्बर , 1939 से 14 अगस्त , 1945 तक चला ।

संयुक्त राष्ट्रसंघ की स्थापना कब व किस सम्मेलन में हुई ?

संयुक्त राष्ट्रसंघ की स्थापना 24 अक्टूबर , 1945 को सेन फ्रांसिस्को सम्मेलन में हुई ।

सुरक्षा परिषद के दो कार्य बताइए ।

( i ) अन्तर्राष्ट्रीय शान्ति व सुरक्षा स्थापित करना । ( ii ) अन्तर्राष्ट्रीय विवादों के शान्तिपूर्ण समाधान के लिए आवश्यक कार्यवाही करना ।

अन्तर्राष्ट्रीय न्यायालय का क्षेत्राधिकार कितने वर्गों में विभाजित किया जा सकता है ?

अन्तर्राष्ट्रीय न्यायालय का क्षेत्राधिकार तीन वर्गों में बाँटा जा सकता है— ( i ) अनिवार्य क्षेत्राधिकार , ( ii ) ऐच्छिक क्षेत्राधिकार तथा ( iii ) परामर्शात्मक क्षेत्राधिकार ।

संयुक्त राष्ट्रसंघ के दो उद्देश्य बताइए ।

संयुक्त राष्ट्रसंघ के दो उद्देश्य निम्नलिखित हैं- ( i ) अन्तर्राष्ट्रीय शान्ति और सुरक्षा बनाये रखना । ( ii ) विश्व की सामाजिक , आर्थिक , सांस्कृतिक एवं मानववादी समस्याओं को हल करने के लिए अन्तर्राष्ट्रीय सहयोग प्राप्त करना ।

संयुक्त राष्ट्रसंघ का बजट किस अंग के द्वारा पारित किया जाता है ?

संयुक्त राष्ट्रसंघ का बजट महासभा के द्वारा पारित किया जाता है ।

संयुक्त राष्ट्र संघ के मूल सदस्य कितने थे ? इन्हें मूल क्यों कहा जाता है ?

संयुक्त राष्ट्र संघ के मूल सदस्य 50 थे । इन्हें मूल इसलिए कहा जाता है क्योंकि इन्होंने इसके चार्टर पर हस्ताक्षर किये थे ।

संयुक्त राष्ट्र संघ का मुख्यालय कहाँ स्थित है ?

संयुक्त राष्ट्र संघ का मुख्यालय न्यूयार्क में स्थित है ।

संयुक्त राष्ट्र संघ के जन्म में अटलाण्टिक चार्टर क्या था ?

14 अगस्त , 1941 को इंग्लैण्ड के प्रधानमन्त्री चर्चिल और अमेरिका के राष्ट्रपति रूजवेल्ट अटलाष्टिक महासागर में प्रिंस ऑफ वेल्स ' नामक जहाज पर मिले और उन्होंने एक घोषणा पर हस्ताक्षर किए , जिसे ' अटलाण्टिक चार्टर ' कहा जाता है । अटलाण्टिक चार्टर को संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना का प्रथम कदम माना जाता है ।

संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रमुख अंगों का वर्णन कीजिए ।

संयुक्त राष्ट्र संघ के छ : प्रमुख अंग हैं । ये हैं— ( 1 ) महासभा , ( 2 ) सुरक्षा परिषद् , ( 3 ) आर्थिक व सामाजिक परिषद् , ( 4 ) प्रन्यास परिषद् , ( 5 ) अन्तर्राष्ट्रीय न्यायालय , ( 6 ) सचिवालया

धुरी राज्यों तथा मित्र राज्यों के गुट में क्रमश : कौनसे देश ( द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान ) सम्मिलित थे ?

द्वितीय विश्वयुद्ध ( 1939 से 1945 ) में धुरी राज्यों के गुट में जर्मनी , इटली एवं जापान थे जबकि मित्र राज्यों के गुट में ब्रिटेन , फ्रांस , सोवियत रूस और अमेरिका थे ।

शीतयुद्ध से क्या अभिप्राय है ?

द्वितीय महायुद्ध के बाद अमेरिका तथा सोवियत संघ के बीच होने वाले वाक् संघर्ष ने एक नए प्रकार के अन्तर्राष्ट्रीय संघर्ष को जन्म दिया जिसे ' शीत युद्ध ' के नाम से पुकारा जाता है । इसमें दोनों पक्षों में कूटनीतिक सम्बन्ध बने रहते हैं और प्रत्यक्ष संघर्ष नहीं होता , किन्तु उनका पारस्परिक व्यवहार शत्रुतापूर्ण होता है ।

शीत युद्ध के किन्हीं दो कारणों का उल्लेख कीजिए ।

( i ) पश्चिम की सोवियत विरोधी नीति और प्रचार अभियान , तथा ( ii ) सोवियत संघ द्वारा माल्टा समझौते की अवहेलना ।

शीत युद्ध की समाप्ति के किन्हीं दो कारणों का उल्लेख कीजिए ।

( 1 ) मिखाइल गोर्बाच्योव की नीतियाँ , ( 2 ) सोवियत संघ का बिखराव ।

अन्तर्राष्ट्रीय संबंधों पर शीतयुद्ध के अंत के प्रभावों में से किन्हीं दो का उल्लेख कीजिए ।

एक ध्रुवीय विश्व की स्थापना , तथा नव - व्यापार युद्ध का प्रारम्भ ।

सर्वप्रथम ' तीसरी दुनिया ' शब्द का प्रयोग किसने किया ?

अल्फ्रेड सोवी ने ।

तृतीय विश्व के देशों से क्या अभिप्राय है ? वर्तमान में तीसरी दुनिया ' शब्द का प्रयोग किसके लिए किया जाता है ?

' तीसरी दुनिया ' शब्द का प्रयोग अल्पविकसित राष्ट्रों अथवा विकासशील राष्ट्रों के लिए किया जाता है ।

डॉ . शिशिर गुप्ता के अनुसार तीसरे विश्व के देशों की सामान्य विशेषताएँ क्या हैं ?

निर्धनता , अस्थिरता , नयापन , अश्वेत तथा दुर्बलता आदि ।

वर्तमान में तृतीय विश्व के देशों पर अमेरिका का प्रभुत्व क्यों बढ़ रहा है ?

सोवियत संघ के बिखराव तथा पूर्वी यूरोप में साम्यवाद के ध्वस्त होने के कारण अमेरिका का प्रभुत्व बढ़ रहा है ।

गुटनिरपेक्षता से क्या आशय है ? अथवा गुटनिरपेक्षता किसे कहते हैं ?

गुट निरपेक्षता से आशय किसी भी देश के साथ सैनिक गुटबन्दी में सम्मिलित न होना , पश्चिमी या पूर्वी गुटों के किसी भी विशेष देश के साथ सैनिक दृष्टि से न बंधना है तथा अपनी स्वतंत्र विदेश नीति का पालन करना ही गुटनिरपेक्षता है ।

' नाम ' के कर्णधार अथवा संस्थापक कौन थे ? अथवा गुट - निरपेक्ष आन्दोलन के प्रणेता कौन थे ?

' नाम ' के कर्णधार या प्रणेता पं.नेहरू , मार्शल टीटो तथा नासिर थे ।

गुट - निरपेक्ष नीति का अर्थ क्या है ?

शक्तिमूलक गुटीय राजनीति से पृथक् रहना तथा सभी राज्यों के साथ शांतिपूर्ण सह अस्तित्व और सक्रिय अन्तर्राष्ट्रीय सहयोग की नीति को अपनाना गुट निरपेक्ष नीति का अर्थ है ।

गुट निरपेक्षता की नीति की दो विशेषताएँ लिखिए ।

( 1 ) साम्राज्यवाद , उपनिवेशवाद , शोषण एवं आधिपत्य का विरोध । ( 2 ) ऐसी नीतियों का समर्थन करना जिनसे राष्ट्र विश्व राजनीति में कम से कम भाग लें ।

गुट - निरपेक्ष आन्दोलन का सदस्य बनने की कोई दो योग्यताएँ बताइए ।

( 1 ) स्वाधीन नीति का अनुसरण करना । ( 2 ) राष्ट्रीय स्वाधीनता के लिये आन्दोलनों को समर्थन देना ।

गुट निरपेक्षता को प्रोत्साहन देने वाले किन्हीं दो कारकों का उल्लेख कीजिए ।

( 1 ) सैनिक गुटों से पृथक रहना । ( ii ) स्वतन्त्र विदेश नीति के संचालन की अभिलाषा ।

गुट निरपेक्ष देशों का प्रथम शिखर सम्मेलन कब व किसके सुझाव पर आमन्त्रित किया गया ?\

गुट निरपेक्ष देशों का प्रथम शिखर सम्मेलन राष्ट्रपति टीटो के सुझाव पर सितम्बर 1961 में बेलग्रेड में आमन्त्रित किया गया था ।

गुट निरपेक्षता / असंलग्नता की कोई दो उपलब्धियाँ / उद्देश्य बताइए ।

( i ) विश्व राजनीति में संघर्षों को टालना , तथा ( ii ) शीत - युद्ध को शस्त्र युद्ध में परिणित होने से रोकना ।

अफ्रीकी एकता संगठन के क्या उद्देश्य हैं ?

अफ्रीकी एकता संगठन का उद्देश्य अफ्रीकी देशों के बीच एकता और सहयोग बढ़ाना , उपनिवेशवाद को समाप्त करना तथा तटस्थ देशों की स्वाधीनता के लिए कार्य करना है ।

वियतनाम गणराज्य की स्थापना कब की गई ? इसका राष्ट्रपति किसे चुना गया ?

( i ) सितम्बर , 1945 में वियतनाम गणराज्य की स्थापना की गई । ( ii ) डॉ . हो - ची - मिन्ह को इस गणराज्य का राष्ट्रपति चुना गया ।

सोवियत संघ का विघटन कब हुआ ? सोवियत संघ के विघटन पर कितने राज्यों का उदय हुआ ?

सोवियत संघ का विघटन 26 दिसम्बर , 1991 को हुआ एवं 15 स्वतंत्र गणराज्यों का उदय हुआ ।

सोवियत संघ के विघटन के दो कारण बताइए ।

( 1 ) मिखाइल गोर्बाच्योव की नीतियाँ , ( 2 ) शोचनीय आर्थिक स्थिति

मिखाइल गोर्बाच्योव की ग्लासनोस्त की नीति को स्पष्ट कीजिए ।

मिखाइल गोर्बाच्योव की ग्लासनोस्त की नीति का अर्थ है खुलापन अर्थात् राजनीतिक , आर्थिक एवं सामाजिक प्रश्नों पर स्वतंत्र और खुली चर्चा तथा नागरिक स्वतंत्रता पर लगाए गए प्रतिबन्धों की समाप्ति ।

भूमण्डलीकरण / वैश्वीकरण से क्या अभिप्राय है ?

भूमण्डलीकरण / वैश्वीकरण राजनीतिक , आर्थिक , सामाजिक , वैज्ञानिक तथा सांस्कृतिक जीवन के विश्वव्यापी समायोजन की एक प्रक्रिया है ।

भूमण्डलीकरण की दो विशेषताएँ बताइए ।

( 1 ) भौगोलिक दूरियाँ सिमट गई हैं । ( 2 ) इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की दूर - दराज पहुँच एक भूमण्डलीय संस्कृति की स्थापना करती है ।

भूमण्डलीकरण के तीन कर्ताओं का उल्लेख कीजिए ।

( 1 ) विश्व - व्यापार संगठन , ( 2 ) बहुराष्ट्रीय कम्पनियाँ , ( 3 ) अन्तर्राष्ट्रीय गैर सरकारी संगठन ।

भूमण्डलीकरण के दो लाभ बताइए ।

( 1 ) विश्व अर्थव्यवस्था में महत्त्वपूर्ण परिवर्तन होना , ( 2 ) देशकाल की सीमाओं का समाप्त होना ।

भूमण्डलीकरण की दो हानियों का उल्लेख कीजिए ।

( 1 ) अन्तर्राष्ट्रीय श्रम प्रवाह में कमी आना , ( 2 ) राष्ट्रों और लोगों के आय स्तरों के बीच की खाई का गहरी होना ।

माओ जिदोंग अथवा माओ से तुंग ।

माओ जिदोंग , माओवाद सिद्धान्त के जनक एवं चीनी क्रांतिकारी और कम्युनिस्ट दल के नेता थे । जिनके नेतृत्व में चीन की क्रान्ति सफल हुई । उन्होंने जनवादी गणतन्त्र चीन की स्थापना ( 1949 ) से मृत्युपर्यन्त ( 1976 ) तक नेतृत्व किया ।

कोपरनिकस ।

निकोलस कोपरनिकस ( 1473-1543 ई . ) - पहले यूरोपीय खगोलशास्त्री थे जिन्होंने पृथ्वी को ब्रह्माण्ड के केन्द्र से बाहर माना यानि हीलियोसेंट्रिज्म मॉडल को लागू किया ।

पृथ्वी सूर्य के चारों ओर घूमती है । "" इस सिद्धान्त का प्रतिपादन किसने किया था ?

इस सिद्धान्त का प्रतिपादन पोलैण्ड के प्रसिद्ध वैज्ञानिक कोपरनिकस ने किया था ।

गुरुत्वाकर्षण के सिद्धान्त का प्रतिपादक कौन था ?

गुरुत्वाकर्षण के सिद्धान्त का प्रतिपादक सर आइजक न्यूटन था ।

Download PDF

पीडीएफ डाउनलोड करें और इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें


Post a Comment

0 Comments

Promoted Posts