अकार्बनिक गुणात्मक विश्लेषण से सम्बन्धित प्रश्न : Viva Questions For 12th Class Chemistry Practical

अकार्बनिक गुणात्मक विश्लेषण से सम्बन्धित प्रश्न Viva Questions For 12th Class Chemistry Practical

मूलक क्या है ?
मूलक एक या अधिक तत्वों के परमाणुओं के समूह हैं , जो एक समूह की तरह क्रिया करते हैं और रासायनिक अभिक्रियाओं में अपनी विशेष पहचान रखते हैं जैसे - Na+ , Ca+2 , PO43- आदि ।

अम्लीय और भास्मिक ( क्षारीय ) मूलकों में क्या अन्तर है ?
जब लवण को जल या किसी अन्य विलायक में विलेय किया जाता है तो वह दो प्रकार के आयनों में अपघटित हो जाता है । एक विद्युत धनीय और दूसरा विद्युत ऋणीय ( भस्मों से ) से प्राप्त धातुओं के आयन साधारणतया विद्युत धनीय होते हैं अतः इन्हें भास्मिक मूलक कहा जाता है । जबकि अम्लों से प्राप्त अधातु आयन विद्युत ऋणी होते हैं अतः इन्हें अम्लीय मूलक कहते हैं ।

ऐसा क्षारीय मूलक बताइए , जो धातु न हो ?
अमोनियम ( NH4+ )

अभिकर्मक किसे कहते हैं ?
गुणात्मक विश्लेषण ( कार्बनिक / अकार्बनिक ) में परीक्षण के लिए काम में लिए जाने वाले रसायन को अभिकर्मक कहा जाता है ।

समआयन प्रभाव किसे कहते हैं ?
किसी दुर्बल वैद्युत अपघटन के जलीय विलयन में अनआयनित अणु व आयनित आयन साम्यवस्था में रहते है । यदि इन साम्य में समआयन युक्त अन्य प्रबल वैद्युत अपघटय मिला - दिया जाए तो साम्य विपरीत दिशा में विस्थापित होने लगता है और मूल वैद्युत अपघटय का आयनन कम हो जाता है । यह प्रभाव समआयन प्रभाव कहलाता है ।

विलेयता गुणनफल किसे कहते हैं ?
किसी निश्चित ताप पर किसी अल्प विलेय वैद्युत अपघट्य का विलेयता गुणनफल उसके संतृप्त विलयन में आयनिक सान्द्रताओं का गुणनफल होता है ।

विलेयता गुणनफल का मात्रक क्या हैं ?
विद्युत अपघट्य AxBy के ? लिए Ksp के मात्रक ( मोल / लीटर )x+y हैं ।

अवक्षेपण की शर्त क्या है ?
आयनिक सान्द्रताओं का गुणनफल विलेयता गुणनफल से अधिक होने पर अवक्षेप प्राप्त होता है ऐसी अवस्था में विलयन अतिसंतृप्त होता है ।

अवक्षेप कब विलेय हो जाता है ?
आयनिक सान्द्रताओं का गुणनफल विलेयता गुणनफल से कम होने पर अवक्षेप विलेय हो जाता है । ऐसी अवस्था में विलयन असंतृप्त होता है ।

संतृप्त विलयन की शर्त क्या है ?
आयनिक सान्द्रताओं का गुणनफल विलेयता गुणनफल बराबर होने पर विलयन संतृप्त होता है ।

pH क्या है ?
किसी विलयन की pH उसमें उपस्थित हाइड्रोजन आयनों की ग्राम / मोल / लीटर में सान्द्रता का ऋणात्मक लघु गुणक होती है ।

समूह अभिकर्मक किसे कहते हैं ?
किसी अभिकर्मक द्वारा कुछ पदार्थों की समूह की पहचान हो सके तो उसे समूह अभिकर्मक कहा जाता है ।

सोडियम कार्बोनेट निष्कर्ष क्या होता है ?
एक भाग मिश्रण + तीन भाग सोडियम कार्बोनेट का 20 - 25 मिली. आसुत जल लेकर 10 - 12 मिनट तक उबालकर छान लेते हैं । छनित को ‘ सोडियम कार्बोनेट निष्कर्ष ’ कहते हैं ।

प्रयोगशाला में H2S किस प्रकार बनाई जाती है ?
कीप उपकरण में आयरन सल्फाइड पर तनु सल्फ्यूरिक अम्ल की क्रिया द्वारा प्रयोगशाला में H2S बनाई जाती है ।

H2S निर्माण के लिए कीप उपकरण ही काम में क्यों लिया जाता है ?
प्रयोगशाला में बारी - बारी से ( अलग - अलग बैच में ) H2S की आवश्यकता होती है । अतः गैस को कीप उपकरण में ही बनाया जाता है । यदि किसी अन्य उपकरण में गैस बनाई जाये तो गैस निरर्थक जायेगी ।

ज्वाला परीक्षण में HCI ही क्यों उपयुक्त होता है ?
क्योंकि दूसरे लवण की अपेक्षा धातुओं के क्लोराइड अधिक वाष्पशील होते हैं तथा उनका तापीय अपघटन सरलता से हो जाता है ।

दीप्ति हीन ज्वाला को Ca , Sr , Ba और Cu के लवण में से प्रत्येक कौनसा रंग प्रदान करता है ।
Ca - ईंट जैसा लाल
Sr - गहरा चमकीला लाल
Ba - सेव जैसा हरा
Cu - गहरा हरा और मध्य में नीला

बोरेक्स का सूत्र क्या है ?
Na2B4O7.10H2O

यदि दिया गया लवण पूर्ण रूप से रंगहीन ( सफेद ) हो तो क्या अनुमान निकाला जा सकता है ?
लवण में कॉपर , आयरन , क्रोमियम , मैग्नीज , काबॉल्ट और निकल अनुस्थित है ।

यदि मिश्रण गर्म जल में विलेय और ठण्डे जल में अविलेय हो तो क्या अनुमान निकालोगे ?
लवण में लैड उपस्थित हो सकता है ।

मिश्रण का विश्लेषण आरम्भ करने से पहले अमोनियम का परीक्षण क्यों कर लेना चाहिए ?
क्योंकि अमोनिया मूलक किसी समूह विशेष का सदस्य नहीं है ।

यदि तृतीय समूह के परीक्षण करते समय पहले NH4OH डालकर बाद में NH4CI मिलायें तो क्या कोई अन्तर आयेगा ?
हाँ , ऐसा करने पर चौथे समूह के मूलक भी अवक्षेपित हो जायेंगे तथा NH4CI मिलाने का कोई लाभ नहीं होगा ।

कोबोल्ट नाइट्रेट परीक्षण द्वारा किन क्षारीय मूलकों का परीक्षण करते हैं तथा अवशेष का कौनसा रंग प्राप्त होता है ?
Zn - हरा अवशेष
Mg - गुलाबी अवशेष
Al - नीला अवशेष

सिल्वर नाइट्रेट विलयन को प्रयोगशाला में रंगीन बोतलों में क्यों रखा जाता है ?
क्योंकि सूर्य के प्रकाश से सिल्वर नाइट्रेट अपघटित हो जाता है ।

क्रोमिल क्लोराइड परीक्षण किस अम्लीय मूलक के लिए करते हैं तथा निकलने वाली गैस का रंग कौनसा होता है ?
क्रोमिल क्लोराइड परीक्षण ‘ क्लोराइड ’ मूलक के लिए किया जाता है तथा निकलने वाली वाष्प ( गैस ) क्रोमिल क्लोराइड की गहरे लाल रंग की होती है ।

नाइट्रेट का परीक्षण करते समय काले भूरे रंग का छल्ला किस यौगिक के बनने के कारण आता है ?
FeSO4NO बनने के कारण ।

ऐसी गैस का नाम बताइये जो चूने के पानी को दूधिया कर देती है तथा अम्लीय डाईक्रोमेट को हरा कर देती है ।
सल्फर डाईऑक्साइड

ब्रोमाइड और आयोडाइड के लिए सतह परीक्षण करते समय कार्बन टेट्राक्लोराइड की सतह पीली या गुलाबी हो जाती है , क्यों ?
ब्रोमीन या आयोडीन के कार्बन ट्रेटाक्लोराइड में विलेय होने के कारण ।

द्वितीय समूह के मूलकों की अनुपस्थिति में भी H2S प्रवाहित करने पर श्वेत या हल्का पीला अवक्षेप आ जाता है , क्यों ?
कोलाइडी सल्फर बनने के कारण ।

तृतीय समूह में आयरन का परीक्षण करने के लिए पौटेशियम फेरोसायनाइड मिलाते है , किस यौगिक के बनने के कारण प्रशियन नीला अवक्षेप आता है ।
फेरी फेरो सायनाइड Fe4[ Fe ( CN )6]3 बनने के कारण ।

तृतीय समूह के मूलकों की अनुपस्थिति में भी कई बार श्वेत अवक्षेप आ जाता है , क्यों ?
क्योंकि अमोनियम क्लोराइड की कम मात्रा मिलाने के कारण अन्य समूहों के मूलक तृतीय समूह में ही अवक्षेपित हो जाते है ।

पीला अमोनियम सल्फाइड क्या है ?
सल्फर के आधिक्य युक्त अमोनियम सल्फाइड को पीला अमोनियम सल्फाइड कहते हैं ।

लैड ऐसीटेट परीक्षण किस अम्लीय मूलक के लिए किया जाता है ?
सल्फाइड के लिए ।

बाधक मूलक कौनसे है ?
ऑक्सलेट , फॉस्फेट , बोरेट और फ्लोराइडं

गलन मिश्रण किसे कहते हैं ?
ठोस KNO3+ ठोस Na2CO3 मिश्रण को कहा जाता है ।

गलन परीक्षण किन मूलकों के लिए किया जाता है ?
क्रोमियम तथा मैग्नीज के लिए ( मिश्रण रंगीन होने पर ) ।

आयोडाइड के ‘ क्लोरीन जल परीक्षण ’ में क्लोरोफॉर्म सतह बैंगनी हो जाती है , क्यों ?
मुक्त आयोडीन के क्लोरोफॉर्म में विलेय होने के कारण ।

B3-3 बोरेट का परीक्षण करने पर हरी ज्वाला किसकी होती है ?
ऐथिल बोरेट ( C2H5O )3B की ।

नैसलर अभिकर्मक कैसे बनता है ?
HgCl2 विलयन लेकर उसमें KI विलयन तब तक मिलाते है जब तक कि आरम्भ में बनने वाला सिंदूरी अवक्षेप विलेय नहीं हो जाए तत्पश्चात् रंगहीन विलयन में NaOH मिलाया जाता है तथा नैसलर अभिकर्मक K2HgI4 तैयार होता है ।

NH4+ को नैसलर परीक्षण पर लाल भूरा अवक्षेप किसका बनता है ?
NH2HgOHgI ( आयोडाइड ऑफ मिल बेस ) का ।

द्वितीय समूह के C+2 का निश्चयात्मक परीक्षण K4 Fe ( CN )6 से करने पर चॉकलेटी अवक्षेप किसका बनता है ?
क्यूप्रिक फेरोसायनाइड Cu2Fe ( CN )6 का ।

Cu+2 के परीक्षण में ही प्रशीयन ब्लू अवक्षेप किसका बनता है ?
ट्रेटाऐमीन क्यूप्रिक सल्फेट [ Cu2 ( NH3 )4 ] SO4 का ।

अधात्विक भास्मिक मूलक का नाम बताइए ।
अमोनियम ( NH2+ )

ऑक्सीकारक ज्वाला क्या होती है ?
बुन्सन ज्वाला की सबसे ऊपरी भाग दीप्तहीन या ऑक्सीकारक ज्वाला कहलाती है । दीप्तहीन ज्वाला का सबसे गर्म भाग होता है तथा ज्वाला परीक्षण में प्रयुक्त होता है ।

अपचायक ज्वाला क्या होती है ?
बुन्सन ज्वाला का मध्य तथा निम्न भाग प्रतिदीप्त या अपचायक ज्वाला कहलाती है । यह प्रतिदीप्त ज्वालाम कार्बन कणों की उपस्थिति के कारण होती है ।

Download PDF Of अकार्बनिक गुणात्मक विश्लेषण से सम्बन्धित प्रश्न Viva Questions For 12th Class Chemistry Practical

आप सभी स्टूडेंट्स नीचे दिए गये डाउनलोड बटन पर क्लिक करके यह पीडीऍफ़ डाउनलोड कर सकते हो | और इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते हो |
Download PDF
253 KB

Post a Comment

0 Comments

Promoted Posts